पीलीभीत के व्यापारी का जला कंकाल मिला

Udham singh nagar Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
खटीमा। दो सप्ताह पहले खटीमा से लापता हुए पीलीभीत का व्यापारी जला कंकाल पीलीभीत पुलिस ने खटीमा पुलिस के सहयोग से लोहियाहेड रोड के जंगल से बरामद कर लिया। साथ ही चार आरोपियाें को दबोचकर उनकी निशानदेही पर व्यापारी का लाइसेंसी रिवाल्वर, सोने की दो चेन और नकदी भी बरामद कर ली। व्यापारी की पीलीभीत कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज थी। उधर, पीलीभीत पुलिस के अनुसार इंद्रजीत की हत्या उसके ही साथी ने अपने तीन दोस्तों की मदद से की थी क्योंकि वह उसकी बहन पर बुरी नजर रखे था। बरामद अंगों का पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया है।
मोहल्ला बागुलशेर खां लकड़ी मंडी जनपद पीलीभीत निवासी इंद्रजीत पुत्र गुलशन 21 सितंबर को अपनी दुकान में काम करने वाले रवि गौतम एवं विपिन के साथ खटीमा आया था। बाद में दोनों युवकों ने यह बताया कि वह इंद्रजीत को खटीमा रोडवेज पर छोड़ आए थे, इसके बाद वह कहां गया उन्हें पता नहीं, जिस पर इंद्रजीत की पत्नी ममता ने उसकी गुमशुदगी कोतवाली पीलीभीत में दर्ज कराई थी। पुलिस ने जांच-पड़ताल कर खटीमा तक साथ आए रवि गौतम निवासी पीलीभीत से कड़ी पूछताछ की तो मामला खुल गया। पुलिस ने खटीमा वार्ड संख्या सात निवासी सुनील सागर उर्फ नन्हें, आभाबुर्ज थाना बंडा शाहजहांपुर निवासी अमर सिंह अनवार तथा सुनगढ़ी पीलीभीत निवासी विपिन को हिरासत में ले लिया। इधर, बृहस्पतिवार को पीलीभीत के एसएसआई फूल सिंह के नेतृत्व में पहुंची पुलिस एवं एसओजी की टीम कोतवाली पुलिस के सहयोग से लोहियाहेड रोड पर जंगल में हत्या कर शव जलाए गए स्थान पर पहुंची, जहां उन्हें शव का कंकाल बरामद हुआ। पीलीभीत पुलिस कंकाल को लेकर पीलीभीत रवाना हो गई। इस दौरान कोतवाली के एसआई चंचल सिंह पुलिस के साथ मौजूद थे।

मृतक की बहन के साथ गुमशुदगी दर्ज कराने आया था रवि
खटीमा। दुकान पर काम करने वाला रवि गौतम इंद्रजीत के लापता होने के बाद इंद्रजीत की बहन के साथ खटीमा कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराने आया था, जिस पर एसएसआई भगवती बिष्ट ने कहा था कि गुमशुदगी एक ही स्थान पर दर्ज हो सकती है। अलबत्ता उन्होंने रवि से पूछताछ की तो उसने बस स्टेशन तक ही छोड़ने की बात बताई, लेकिन यह भी कहा कि वह वाहन खरीदने आए थे।

इस तरह दिया था घटना को अंजाम
पीलीभीत। सीओ सिटी दिनेश कुमार शर्मा ने बताया इंद्रजीत अपने साथी मोहल्ला सरफराज खां निवासी रवि कुमार की बहन पर बुरी नियत रखता था। यह बात उसने रवि को भी बताई थी। इससे उसे ग्लानि होती थी। यहीं वजह रही कि रवि कुमार ने उसे ठिकाने लगाने की योजना बनाई। बकौल सीओ अय्याशी कराने के बहाने रवि कुमार इंद्रजीत को बाइक से लेकर खटीमा के लिए निकला। खटीमा में ही उन्हें नन्हें मिला जिसे बाइक पर बैठा लिया। तीनों बाइक से लोहिया हेड गांव के लिए जंगल के रास्ते से चल दिए। घनी झाड़ियों के निकट पहुंचते ही रविकुमार ने तमंचा निकालकर इंद्रजीत को गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। गुमशुदगी दर्ज हो जाने पर 25 सितंबर को आरोपियों ने शव बोरे में बंदकर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper