फिर कोतवाली पहुंचा फुलैया का भूमि विवाद

Udham singh nagar Updated Mon, 17 Sep 2012 12:00 PM IST
खटीमा। फुलैया में विवादित भूखंड पर बने मकान में एक फौजी परिवार के रहने का थारु राणा परिषद के कार्यकर्ताओं ने विरोध किया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी जेएस पांगती को सौंपे पत्र में परिषद कार्यकर्ताओं ने कहा कि उक्त भूमि पर दोनों पक्षों के आने-जाने पर प्रतिबंध है।, बावजूद एक फौजी परिवार इस मकान में रहने लगा है। उन्होंने न्यायालय द्वारा उनके पक्ष में इस भूखंड का फैसला देने की बात बताई।
फुलैया में जमीन को लेकर दो पक्षों में हुए विवाद में एक पक्ष के दो लोगों की हत्या हो गई थी। मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस ने दोनों पक्षों के विवादित भूखंड पर आने-जाने पर रोक लगा दी। सीओ पांगती को सौंपे पत्र में बनवारी सिंह पुत्र भोगी सिंह ने कहा कि उसके सह खातेदार केदार सिंह, करन सिंह के नाम खाता नं.0011 खसरा गाटा सं. 757 रकवा दो बीघा नौ बिश्वा तथा 758/4 रक्वा 5 बिश्वा भूमि फुलैया गांव में वर्ग 1(क) संक्रमणीय भूमिधरी दर्ज है तथा मौके पर कब्जे में है। उक्त भूमि पर बने एक मकान में 15 सितंबर की दोपहर एक व्यक्ति परिवार सहित आकर रहने लगा है, जबकि उक्त भूखंड पर पुलिस द्वारा दोनों पक्षों को घुसने से मना किया गया है।
कोतवाल पीसी भट्ट ने इस संबंध में एसआई विनोद कुमार को मामले की जांच कर कार्रवाई को कहा है। सीओ ने कहा यदि जांच में आरोपी दोषी मिला तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। इस दौरान भूपेंद्र सिंह, शीशराम राणा, भुवन राणा, मीना देवी, रणजीत सिंह, अनिल कुमार, सचिन राणा, राकेश राणा, वचन सिंह, दीवान सिंह राणा, मुकेश राणा आदि थे।

थारु राणा परिषद के विरोध में पूर्व सैनिक संगठन लामबंद
खटीमा। थारु राणा परिषद द्वारा किए जा रहे विरोध पर पूर्व सैनिक संगठन के अध्यक्ष कुंवर सिंह खनका ने कहा यह जमीन एक सैनिक ने आठ वर्ष पूर्व गैर जनजाति काश्तकार से खरीदी थी। उन्होंने कहा इस भूखंड पर मकान बनाते समय अथवा फसल बोते एवं काटते समय आपत्ति की जानी थी। हत्याकांड के समय भी कुछ लोगों द्वारा इस मकान को तोड़ने की कोशिश की गई थी, जिसे पुलिस ने रोक दिया था। खनका ने कहा इस मामले में न्यायालय के इतर किसी भी तरह का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। न्यायालय का निर्णय ही स्वीकार किया जाएगा। पूर्व सैनिक संगठन के पूर्व अध्यक्ष कै.शेर सिंह दिगारी ने कहा इसी तरह की खरीद-फरोख्त पूरे खटीमा में थारु और गैर थारुओं के बीच हुई है, ऐसे तो सारी जमीनें विवादित हो जाएंगी। उन्होंने सैनिक की जमीन के साथ हुई खरीद-फरोख्त में किसी प्रकार का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करने की चेतावनी दी।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

गरीबी की वजह से इस शख्स ने शुरू किया था मिट्टी खाना, अब लग गई लत

गरीबी की वजह से झारखंड के कारु पासवान ने मिट्टी खानी शुरू की थी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper