आपका शहर Close

‘रोशनी’ को ताक रहा सीतापुर अस्पताल

Udham singh nagar

Updated Sun, 26 Aug 2012 12:00 PM IST
काशीपुर। जनप्रतिनिधियों के निरीक्षण के बाद भी सीतापुर नेत्र चिकित्सालय को अब तक रोशनी नहीं मिल सकी है। हालात यह है कि चार मंजिला भवन जनप्रतिनिधियों व सरकार की उदासीनता के चलते धराशायी होने की कगार पर पहुंच गया है।
कई लोगों को रोशनी देने वाला सीतापुर नेत्र चिकित्सालय मरम्मत के अभाव में स्वयं रोशनी ताक रहा है। जनप्रतिनिधियों व सरकार की आंखें बंद होने से इस अस्पताल का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। हालात यह है कि भवन खंडहर में तब्दील होता जा रहा है। दो साल पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने अस्पताल का स्थलीय निरीक्षण कर शासन को 45 लाख का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन तत्कालीन भाजपा सरकार ने अपने ही विधायक के प्रस्ताव को तवज्जो नहीं दी। इसके बाद स्वयं तत्कालीन मुख्यमंत्री निशंक ने अपने काशीपुर दौरे के दौरान सीएमओ से प्रस्ताव बनाकर भेजने को कहा था। तब पीडब्लूडी के माध्यम से शासन को 90 लाख का प्रस्ताव भेजा गया था। लेकिन आज तक अस्पताल की मरम्मत के लिए धनराशि उपलब्ध नहीं हो सकी। इतना ही नहीं सांसद केसी सिंह बाबा का भेजा 20 लाख का प्रस्ताव बनाकर अब कांग्रेस सरकार आने के बाद भी धूल फांक रहा है। यहां बता दे कि वर्ष 1985 में बना सीतापुर अस्पताल तीन एकड़ में फैला हुआ है।
चार मंजिले अस्पताल में प्रथम तल में ओपीडी, रिफ्रेक्शन रूम, डार्क रूम, माइनर ओटी, प्राईवेट वार्ड, दूसरे तल में ओटी व जनरल वार्ड, तीसरे तल में जनरल वार्ड व अल्सर वार्ड तथा चौथे तल में ड्यूटी रूम और जनरल वार्ड है। इतना ही नहीं अस्पताल में ओपरेटिंग माइस्क्रेप (जापानी), अल्ट्रासाउंड ए स्केन, स्लीक लैंप, क्रेटो मीटर, ऑफेलमों स्कोप समेत सर्जरी से संबंधित लगभग 40 लाख रुपए की मशीनें हैं। लेकिन विडंबना यह रही कि 27 साल से अस्पताल की न तो मरम्मत हुई और न ही रंग रोगन। जबकि अस्पताल में एक नेत्र विशेषज्ञ सहित पांच लोग का स्टाफ है।
इंसेट....
अस्पताल में प्रतिदिन ओपीडी के दौरान 60 से 70 मरीज आते हैं। जबकि प्रतिदिन 4-5 आपरेशन भी किए जाते हैं। कई बार जनप्रतिनिधियों के माध्यम से शासन को प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। लेकिन अब तक सफलता नहीं मिली। इससे अस्पताल की स्थिति बड़ी नाजुक हो गई है। यदि शासन अस्पताल के लिए धनराशि उपलब्ध कराता है तो अस्पताल को जीवन दान मिल जाएगा।
एके सारस्वत, प्रभारी व नेत्र विशेषज्ञ, सीतापुर नेत्र चिकित्सालय
Comments

स्पॉटलाइट

तांबे की अंगूठी के होते हैं ये 4 फायदे, जानिए किस उंगली में पहनना होता है शुभ

  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +

शादी करने से पहले पार्टनर के इस बॉडी पार्ट को गौर से देखें

  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +

पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड में 20 पदों पर वैकेंसी

  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +

'छोटी ड्रेस' को लेकर इंस्टाग्राम पर ट्रोल हुईं मलाइका, ऐसे आए कमेंट शर्म आएगी आपको

  • शनिवार, 16 दिसंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: सपना चौधरी के बाद एक और चौंकाने वाला फैसला, घर से बेघर हो गया ये विनर कंटेस्टेंट

  • शनिवार, 16 दिसंबर 2017
  • +

Most Read

कांग्रेस नेता कमलनाथ पर बंदूक तान देने वाले कांस्टेबल के खिलाफ FIR दर्ज

FIR registered against police constable who pointed rifle at congress leader kamal nath
  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +

एयरपोर्ट पर बाल-बाल बचे कांग्रेस नेता कमलनाथ, पुलिसकर्मी ने तानी बंदूक

Madhya Pradesh: Police constable pointed gun at former union minister kamal nath 
  • शुक्रवार, 15 दिसंबर 2017
  • +

कोयला घोटाला: तीन साल की सजा मिलने के तुरंत बाद मधु कोड़ा को मिली जमानत

Coal scam Jharkhand ex cm Madhu Koda gets three years imprisonment and  25 lakh Fine
  • शनिवार, 16 दिसंबर 2017
  • +

जिला न्यायालय से गायत्री प्रसाद प्रजापति की याचिका खारिज, न्यायाधीश ने की सख्त टिप्पणी

gayatri prasad prajapati Petition rejected from district court
  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +

गोलियों की तड़तड़ाहट से दहला आईएफटीएम, कांपे छात्र 

firing in university
  • मंगलवार, 12 दिसंबर 2017
  • +

बिजली कनेक्‍शन चाहिए तो पहुंचे आज प्रदेश भर में चल रहे मेगा शिविर में

mega shiwir in up, one lakh power connection will be distributed
  • रविवार, 17 दिसंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!