विज्ञापन
विज्ञापन

माओवाद में फंसे आठ आरोपी बरी

Udham singh nagar Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
रुद्रपुर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शमशेर अली ने आठ तथाकथित माओवादियों को बरी कर दिया है। कोर्ट का मानना है कि पुलिस द्वारा अभियुक्तों से बरामद दिखाई गई सामग्री केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिबंधित नहीं है और जिन दो अखबारों में सामग्री को सील किया गया था वे दोनों ही घटना के करीब ढाई माह बाद के थे। इसके अलावा, सीआरपीसी की धारा 196 के तहत शासन से बहुत बाद में अनुमति ली गई थी। इतना ही नहीं, अभियोजन पक्ष द्वारा पेश किए गए पुलिस गवाहों के बयानों में काफी विरोधाभास था। न्यायालय ने सभी आरोपियों उनको बरी कर दिया।
विज्ञापन
विज्ञापन
तत्कालीन नानकमत्ता के थानाध्यक्ष बीएस रावत ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा था कि उन्होंने पुलिस के साथ 29/30 अगस्त 2004 की सुबह करीब 6.30 बजे ग्राम रन्साली विचवाभूड़ विचई व हसपुर खत्ता सौ फिटिया जंगल क्षेत्र में पकड़े गए तथाकथित माओवादियों को षड्यंत्र रचने, राष्ट्र विरोधी सामग्री अपने कब्जे में रखकर आपराधिक षड्यंत्र करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उन पर आरोप लगाया था कि उन्होंने माओवाद के पर्चे बांटकर देश की एकता को खंडित करने का प्रयास किया। उनसे राष्ट्र विरोधी सामग्री भी बरामद की गई। इस मामले में आमखरक जिला चंपावत निवासी अनिल चौड़ाकोटी उर्फ हेम पुत्र नारायणदत्त, हंसपुर खत्ता थाना चोरगलिया जिला नैनीताल निवासी हयातराम पुत्र जसराम, रामलाल उर्फ रमेशलाल पुत्र टीकाराम व प्रकाश राम पुत्र हयातराम मूल निवासी छतगल्ला थाना द्वाराहाट जिला अल्मोड़ा, हाल निवासी खत्ता बंगर थाना हल्द्वानी निवासी ईश्वर चंद जूनियर पुत्र स्व. घनानंद फुलारा, कुकना पट्टी मल्ली थाना मुक्तेश्वर जिला नैनीताल निवासी हरीश राम उर्फ मनोज उर्फ विपिन पुत्र जयराम व संतोष राम उर्फ कमलेश उर्फ पुष्कर पुत्र मोतीराम, ग्राम दुम्का बंगल हल्दुचौड़ थाना लालकुंआ जिला नैनीताल निवासी गोपाल भट्ट उर्फ विवेक पुत्र लक्ष्मीदत्त भट्ट, औडाया पट्टी शहर फाटक जिला अल्मोड़ा निवासी ललित मोहन उर्फ सूरज पुत्र शिवराम, ग्राम सैनी थाना सितारगंज जिला ऊधमसिंह नगर निवासी कैलाश पुत्र राधेश्याम एंव ग्राम कल्याणपुर थाना सितारगंज जिला ऊधमसिंह नगर निवासी कल्याण सिंह पुत्र जीवन सिंह कार्की के विरुद्ध अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शमशेर अली की अदालत में धारा 120 बी/121/121ए/124ए भारतीय दंड संहिता के तहत मुकदमा चला। इस दौरान कैलाश व कल्याण सिंह की मौत हो गयी और ललित मोहन को नाबालिग होने के कारण उसका केस अन्य कोर्ट में भेज दिया। इस मुकदमे में सरकारी वकील लक्ष्मीनारायण पटवा ने 14 गवाह पेश किए। मगर अपराध सिद्ध नहीं कर पाए। बृहस्पतिवार को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शमशेर अली ने आठ अभियुक्तों को आरोप सिद्ध न होने पर बाइज्जत बरी कर दिया।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Udham Singh Nagar

बरेली एसटीएफ ने गदरपुर से दबोचा 25 हजार का ईनामी अख्तर

कातिलाना हमले और बलवे के आरोप में यूपी पुलिस का है वांछित

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

हरिद्वार के पास दो हाथियों की मौत, ट्रेन की चपेट में आने से गई जान

शुक्रवार को हरिद्वार के पास नंदा देवी एक्सप्रेस की चपेट में आने से दो हाथियों की मौत की खबर सामने आई है। वन अधिकारियों का कहना है कि ये हादसा सुबह लगभग 5 बजे के करीब हुआ। सूचना मिलने के बाद वन अधिकारियों ने दोनों हाथियों का पोस्टमार्टम किया।

19 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election