कुछ पेट्रोल पंप सूखे तो कुछ पर मारामारी

Udham singh nagar Updated Tue, 05 Jun 2012 12:00 PM IST
रुद्रपुर। गैस के बाद जिले में अब पेट्रोल और डीजल का संकट गहरा गया है। पेट्रोल-डीजल के लिए मारामारी मची हुई है। जिले के अधिकांश पेट्रोल पंप ड्राई हो चुके हैं। पेट्रोलियम कंपनियों के अधिकारियों का कहना है कि अभी कुछ और दिनों तक पेट्रोल व डीजल का संकट का बना रहेगा। सोमवार को दो पहिया और चार पहिया वाहन चालक पूरे दिन पेट्रोल व डीजल के लिए एक से दूसरे पेट्रोल पंपों पर भटकते रहे।
शहर के इक्का-दुक्का जिन पेट्रोल पंपों पर तेल मिल भी रहा था। वहां पर वाहनों की लंबी कतार रही। इस दौरान पेट्रोल व डीजल लेने को लेकर वाहन स्वामियों को आपस में तू तू-मैं मैं और खूब नोक झोंक भी हुई। जिले में दो दिनों से पंपों पर मांग के अनुरूप पेट्रोल व डीजल उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। फलस्वरूप अधिकतर पंप बंद हो गए हैं। बताया जा रहा है कि एचपीएल का उत्पादन प्रभावित होने और बीपीएल में ट्रांसपोर्टेशन के चलते यह दिक्कत आ रही है। कुमाऊं में पेट्रोल की सप्लाई बरेली स्थित आंवला डिपो से होती है। जबकि आंवला डिपो को बहादुरगंज हरियाणा से तेल सप्लाई होता है। बीते तीन-चार दिनों से बहादुरगंज से आंवला में मांग के अनुरूप तेल आपूर्ति नहीं हो पा रही है। इससे इसका प्रभाव जिला ऊधम सिंह नगर में भी पड़ना शुरू हो गया है। बताया जा रहा है कि पेट्रोल व डीजल की यह कमी कुछ दिनों और बनी रह सकती है। जिले में ही इंडियन आयल कारपोरेशन के 51, भारत पेट्रोल कारपोरेशन के 24, हिंदुस्तान पेट्रोल कारपोरेशन के 38, ईएफएआर के 5 व रिलाइंस के 8 पेट्रोल पंप समेत कुल 126 पेट्रोल पंप हैं। वहीं रुद्रपुर शहर में इन कंपनियों के छह पेट्रोल पंप हैं, जिनमे से इक्का-दुक्का पंपों पर ही तेल उपलब्ध है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls