विज्ञापन
विज्ञापन

संस्कृति, साहित्य और विरासत को संजोने में आगे आए युवा पीढ़ी: मेजर चौहान

Dehradun Bureauदेहरादून ब्यूरो Updated Fri, 23 Aug 2019 10:12 PM IST
ुद्रप्रयाग में सरस्वती विद्या मंदिर व शिशु मंदिर के छात्र-छात्राओं ने मनाया श्रीकृष्ण जन्माष्ट?
ुद्रप्रयाग में सरस्वती विद्या मंदिर व शिशु मंदिर के छात्र-छात्राओं ने मनाया श्रीकृष्ण जन्माष्ट? - फोटो : RUDRAPRYAG
ख़बर सुनें
चमोली जिले में कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। पीपलकोटी के पाखी गांव के गरुड़ मंदिर परिसर में भगवान श्रीकृष्ण की भव्य झांकी निकाली गई। दिनभर यहां भगवान कृष्ण के भजन गूंजते रहे। बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा पर जा रहे तीर्थयात्री भी कृष्ण भजनों में सराबोर दिखे। इस दौरान भगवान श्रीकृष्ण के समुद्र में कालिया नाग को अपने वश में करने के बाद अद्भुत नृत्य करने पर एक नाटिका का मंचन भी किया गया। पोखरी के नागनाथ मंदिर में दर्शनों के लिए दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा। देवाल में स्थित सुरम्य वेदनी बुग्याल में वाण, कुलिंग, बलाण, मुंदोली और बांक के ग्रामीणों ने जन्माष्टमी पर्व पर कैल विनायक में भगवान गणेश की पूजा-अर्चना कर पारंपरिक परिधान में झुमेलो, चौंफुला, चांचणी लगाकर भगवान कृष्ण की स्तुति की। कुलिंग गांव के भुवन बिष्ट और महिपत सिंह दानू का कहना है कि प्रतिवर्ष श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर ग्रामीण वेदनी बुग्याल पहुंचते हैं। इस बार वेदनी बुग्याल में खिले अनगिनत फूलों ने वेदनी बुग्याल की सुंदरता पर चार चांद लगा दिए है। गोपेश्वर के गोपीनाथ मंदिर में भी दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा।
विज्ञापन
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर रंगारंग कार्यक्रमों की रही धूम
रुद्रप्रयाग। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर माई गोविंद गिरी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज और सरस्वती शिशु मंदिर पुनाड़ के छात्र-छात्राओं ने भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं पर आधारित प्रस्तुतियां दी।
दीप प्रज्जवलन के साथ समारोह का शुभारंभ करते हुए 10-जम्मू-कश्मीर लाइट इनफैंट्री के मेजर सीके चौहान ने युवा पीढ़ी को संस्कृति, साहित्य और विरासत को संजोने का आह्वान किया। कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में कर्म को प्रधानता दी है। इसलिए यह जरूरी है कि हम अपने जीवन में अच्छे कार्यों को करें, जो समाज के लिए प्रेरणा का काम करें। उन्होंने छात्र-छात्राओं को शिक्षा के साथ सामाजिक व रचनात्मक कार्यों में भी प्रतिभाग की अपील की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए सेवानिवृत्त कैप्टन राय सिंह रावत ने कहा कि विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालय प्रतिभाओं को निखारने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। इसके उपरांत छात्रों द्वारा समारोह में किया गया मथुरा में कंस के कारागार में श्रीकृष्ण के जन्म से गोकुल में बाल लीला और बालपन के मित्र सुदामा की श्रीकृष्ण से भेंट का मंचन आकर्षण का केंद्र रहा। इससे पूर्व भव्य झांकी भी निकाली गई। दूसरी तरफ शिशु मंदिर पुनाड़ द्वारा छात्र-छात्राओं के लिए श्रीकृष्ण-राधा फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य मनोज कुकरेती, शेर सिंह कंडारी, श्रीकृष्ण सिंह नेगी, गिरीश चंद्र पुरोहित, कृपाल सिंह पंवार कमला गुसाई, ज्ञानी नेगी, कुसुम नेगी, बबली बमोला, राकेश नौटियाल, रूप सिंह रावत, दीपक मुखमाल, चंद्रशेखर प्रदाली व अभिभावक मौजूद थे।
राधाकृष्ण की मनमोहक झांकी निकली
श्रीनगर/देवप्रयाग। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर नगर के विभिन्न विद्यालयों व आसपास के मंदिरों में कार्यक्रम आयोजित किए गए। शुक्रवार को नगर के सुमनलता मेमोरियल प्ले ग्रुप स्कूल में नन्हें मुन्ने बच्चों की राधाकृष्ण की झांकी मनमोहक रही। जबकि कीर्तिनगर के होली एंजिल स्कूल देवली में मटकी फोड़ कार्यक्रम आयोजित किया गया। वही संगम नगरी देवप्रयाग के रघुनाथ मंदिर में भजन कीर्तन संध्या के आयोजन में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
मंदिरों में की पूजा-अर्चना
नई टिहरी/लंबगांव। बौराड़ी में ब्रह्म कुमारी प्रजापिता ईश्वरीय विवि में कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। जिलेभर के मंदिरों में श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की। सेम मुखेम में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पर्व पर सेम नागराज मंदिर के मड़बागी सौड़ में भगवान कृष्ण जन्मोत्सव मनाने के लिए दूर-दराज से बड़ी संख्या में भक्तगण देव डोलियों के साथ पहुंचे। मड़बागी सौड़ में भगवान कृष्ण का जन्म दिन धूमधाम से मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। रात्रि जागरण के बाद भगवान का जन्म होने के बाद रात 12 बजे भक्तगण अपना व्रत खोलते है। और रातभर रात्रि जागरण कर जन्मोत्सव का जश्र मनाते हैं। बिजपुर गांव के नागराज मंदिर में अखंड रामायण का पाठ शुरू किया गया। ब्यूरो
फोटो-
धूमधाम से मनाई गई श्रीकृष्ण जन्माष्टमी
कर्णप्रयाग/गौचर/आदिबदरी/नारायणबगड़/थराली। जन्माष्टमी के मौके कर्णप्रयाग के कर्ण शिला पर स्थित कृष्ण मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। महिलाओं ने मंदिर में भजन-कीर्तन किया। नंदासैण के कफलोडी (देवलनगर) गांव के राधा-कृष्ण मंदिर में भी भव्य समारोह आयोजित किया गया। सिमली और लंगासू के चंडिका देवी मंदिर में दिनभर भक्तों की भीड़ लगी रही। डिम्मर गांव के लक्ष्मी नारायण मंदिर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भी कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। गौचर में श्रीकृष्णा गो-सेवा सदन और द ब्रिटिश इंगलिश प्री स्कूल के बच्चों ने कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया। स्कूल में ढाई सौ से अधिक बच्चों ने कृष्ण-राधा की पोशाक पहनकर शानदार झांकी निकाली। आदिबदरी धाम में दर्जनों गांवों के लोगों ने भगवान आदिबदरी मंदिर में पूूजा की। बाल कृष्ण की टोलियों ने मंदिर परिसर में धार्मिक प्रस्तुतियां दी। नारायणबगड़ और थराली के ग्रामीण क्षेत्रों में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया।
कृष्ण जन्मोत्सव पर भव्य झांकी निकली
नारायणबगड़। ब्लॉक मुख्यालय में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा पुराण के छठवें दिन कथा श्रवण करने के लिए श्रद्धालु आए। इस दौरान आयोजकों ने श्री कृष्ण जन्मोत्सव की भव्य झांकी निकाली। इस दौरान श्रद्धालुओं ने पुष्प वर्षा की और श्री कृष्ण के जयकारों से संपूर्ण क्षेत्र गुंजायमान हो गया। बाल व्यास आचार्य सुमित सिलोड़ी ने भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं का अत्यंत रोचक वर्णन किया। इस मौके पर डा. हरपाल सिंह नेगी, यशपाल सिंह, सिद्धार्र्थ नेगी, सुलोचना देवी, कमला देवी, शकुंतला देवी आदि मौजूद थे।
फोटोयुक्त--
गरुड़ मंदिर में निकाली श्रीकृष्ण की भव्य झांकी
गोपेश्वर/पीपलकोटी। चमोली जिले में कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। पीपलकोटी के पाखी गांव के गरुड़ मंदिर परिसर में भगवान श्रीकृष्ण की भव्य झांकी निकाली गई। दिनभर यहां भगवान कृष्ण के भजन गूंजते रहे। बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा पर जा रहे तीर्थयात्री भी कृष्ण भजनों में सराबोर दिखे। इस दौरान नाटिका का मंचन भी किया गया। पोखरी के नागनाथ मंदिर में दर्शनों के लिए दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा। देवाल में स्थित वेदनी बुग्याल में ग्रामीणों ने कैल विनायक में भगवान गणेश की पूजा-अर्चना कर पारंपरिक परिधान में झुमेलो, चौंफुला, चांचणी लगाकर भगवान कृष्ण की स्तुति की। गोपेश्वर के गोपीनाथ मंदिर में भी दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा।
मागंल-जागर और झोड़ा नृत्य से की स्तुति
देवाल। श्री कृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर ब्लॉक के नंदा धाम नंदकेशरी में एक दिवसीय धार्मिक मेले का आयोजन हुआ। शुक्रवार को सुबह धरातल्ला के रावत पुजारियों और गढ़वाल-कुमांऊ के सैकड़ों की संख्या में आए श्रद्धालुओं ने धरातल्ला गांव से गुप्तगंगा तक देव यात्रा निकाली, और पौराणिक शिव-पार्वती मंदिर मे पूजा-अर्चना की। इस दौरान देवी-देवताओं के पश्वाओं ने अवतरित होकर श्रद्धालुओं को सुख-समृद्धि का आशीर्वाद दिया। श्रद्धालुओं ने मांगल-जागर और झोड़ा नृत्यों के साथ देवी-देवताओं की स्तुति कर क्षेत्र के सुख-समृद्धि की कामना की। इस मौके पर निवर्तमान क्षेत्र पंचायत प्रमुख उर्मिला बिष्ट, पूर्व प्रमुख डीडी कुनियाल, महावीर बिष्ट, नंदा बल्लभ, पुष्कर बिष्ट, राजेंद्र दानू, कृपाल भंडारी, दर्शन दानू, केशर सिंह बिष्ट सहित गढ़वाल और कुमांऊ के सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रतिभाग कर पुण्य अर्जित किया।
विज्ञापन

Recommended

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय
Invertis university

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

बुधवार को बदरी-केदारनाथ धाम पहुंचेंगे आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत, करेंगे विशेष पूजा-अर्चना

भारतीय थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बाबा केदारनाथ के दर्शन के लिए बुधवार को धाम पहुंचेंगे। प्रशासन, मंदिर समिति व तीर्थ पुरोहितों द्वारा उनके धाम आगमन को लेकर जरूरी तैयारियां पूरी कर दी गई हैं।

17 सितंबर 2019

विज्ञापन

विनेश फोगाट ने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में जीता मेडल, टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए हुईं क्वालीफाई

भारत की स्टार महिला पहलवान विनेश फोगाट ने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया है। मेडल जीतने के साथ ही विनेश फोगाट ने टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए भी क्वालीफाई कर लिया है।

18 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree