ठेकेदारों ने किया ई-टेंडर का विरोध

Rudraprayag Updated Tue, 21 Jan 2014 05:48 AM IST
ऊखीमठ। केदारनाथ लोक निर्माण विभाग ठेकेदार समिति ने ई-टेंडरिंग का विरोध किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजते हुए ई-टेंडर को निरस्त करते हुए छोटे-छोटे जॉब की निविदा आमंत्रित करने की मांग की है।
समिति के अध्यक्ष आनंद सिंह नेगी, सचिव नरेंद्र पंवार, संरक्षक कुलदीप कंडारी, जय सिंह चौहान, माणिक लाल, वंशीधर नौटियाल और प्रमोद नेगी ने बताया कि क्षेत्र में अधिकांश शिक्षित बेरोजगार अन्य रोजगार के अभाव में ठेकेदारी का कार्य करते हैं। गत वर्ष जून में आई आपदा में स्थानीय ठेकेदारों ने मोटर मार्ग खुलवाने सहित अन्य राहत कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। कई ठेकेदारों का अभी तक भुगतान नहीं हो पाया है।
वहीं लोनिवि अस्थायी खंड गुप्तकाशी और लोनिवि सिंचाई खंड ई-टेंडरिंग के जरिए निविदाएं आमंत्रित कर रहा है। लोनिवि गुप्तकाशी-कालीमठ-कोटमा मोटर मार्ग का सुधारीकरण, मस्ता-मद्महेश्वर पैदल मार्ग का पुनर्निर्माण और विजयनगर-पठालीधार मोटर मार्ग का सुधारीकरण सहित अन्य कार्य ई-टेंडरिंग से करवा रहा है। यह बडे़ ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने की साजिश है। इससे छोटे ठेकेदार काम नहीं कर पा रहे हैं। ठेकेदारों ने ई-टेंडर निरस्त नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

केदारनाथ में दो वर्ष बाद फिर दिखा ये विलुप्त जानवर

केदारनाथ धाम में सरस्वती घाट क्षेत्र में हिमालयन फाक्स दिखाई दी। यहां लगे क्लोज सर्किट कैमरे में 43 सेकंड तक कैद हुआ यह दुर्लभ वन्य जीव बर्फ में अठखेलियां करता हुआ दिख रहा है। आपदा के बाद यह जीव यहां दूसरी बार नजर आया है।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls