200 विद्यालय एकल शिक्षकों के भरोसे

Rudraprayag Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
रुद्रप्रयाग। जहां एक ओर 200 प्राथमिक विद्यालय एकल शिक्षकों के भरोसे चल रहे हैं, वहीं 147 नियमित बीटीसी प्रशिक्षु बेरोजगार घूम रहे हैं। जुलाई माह में रिजल्ट निकलने के बाद से वे नियुक्ति की प्रतीक्षा कर रहे हैं, जबकि अन्य जिलों में (चुनाव आचार संहिता वाले जिलों को छोड़कर) 15-20 दिन पूर्व नियुक्ति प्रक्रिया जारी हो चुकी है।
जिले के 561 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापकों/शिक्षा मित्रों के 1148 पद स्वीकृत हैं, इसके सापेक्ष केवल 871 पद ही भरे हुए हैं। 277 शिक्षकों के पद रिक्त चल रहे हैं, जिसके चलते कई आधे से अधिक विद्यालय एकल शिक्षक चला रहे हैं। वहीं कुछ विद्यालयों में विभाग की लापरवाही ने व्यवस्था बिगाड़ी दी है। जिन विद्यालयों में ज्यादा जरूरत है, वहां एक ही शिक्षक तैनात है। नियमित बीटीसी प्रशिक्षुओं को दुर्गम क्षेत्र के विद्यालयों में भेजकर शिक्षकों की कमी को दूर किया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं किए जाने से एकल विद्यालयों में पढ़ रहे छात्रों का भविष्य चौपट हो रहा है।

राजकीय प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों हेतु विज्ञप्ति जारी की जा रही है। चयन प्रक्रिया के बाद प्रशिक्षुओं की नियुक्ति कर दी जाएगी। -हरीशंकर वर्मा, सीईओ

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

केदारनाथ में दो वर्ष बाद फिर दिखा ये विलुप्त जानवर

केदारनाथ धाम में सरस्वती घाट क्षेत्र में हिमालयन फाक्स दिखाई दी। यहां लगे क्लोज सर्किट कैमरे में 43 सेकंड तक कैद हुआ यह दुर्लभ वन्य जीव बर्फ में अठखेलियां करता हुआ दिख रहा है। आपदा के बाद यह जीव यहां दूसरी बार नजर आया है।

4 जनवरी 2018