विज्ञापन
विज्ञापन

किसी ने रोका, न किसी ने देखा

Rudraprayag Updated Fri, 31 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
रुद्रप्रयाग। जिले में अवैध निर्माण और अतिक्रमण के मामले में इसी माह नैनीताल हाईकोर्ट की ओर से सख्त रवैया अपनाने के बाद जिला प्रशासन हरकत में तो आया है, लेकिन इससे पहले यहां दर्जनों ऐसे भवनों का निर्माण हो गया है, जो मानकों पर जरा भी खरे नहीं उतरते हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
जिला मुख्यालय के पास पिछले कुछ वर्षों में ऐसे बहुमंजिले भवन खडे़ किए गए हैं जो मानकों के विपरीत हैं। यहां चार से पांच मंजिला भवनों का निर्माण हो गया है। वहीं जो भवन मानकोनुसार बने भी हैं उनके चारों ओर जगह ही नहीं छोड़ी गई है। भवनोें को दूसरे भवनों से सटाकर बना दिया गया है। नालियों, हवा और प्रकाश के लिए जगह नहीं छोड़ी है। जबकि 9.0 मी. से ऊंचे भवनों के चारों ओर न्यूनतम 4.50 मी. क्षेत्र को निर्माण मुक्त रखते हुए खुला छोड़ना चाहिए। संपर्क मार्ग की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए। लेकिन यहां भी मानकों की धज्जियां उड़ा दी गई। पहाड़ में इतने ऊंचे भवनों का निर्माण किया गया मगर यहां मानकों को न देखा गया और न किसी ने इस निर्माण पर सवाल उठाए। भवन निर्माण बिना नक्शा पास कराए बनाए गए लेकिन किसी ने उन्हें नहीं रोका। यदि नक्शा पास कराया है, तो मानकों के विपरीत भवनों का निर्माण कैसे हुआ।

इंसेट
2007 में मानक किए थे निर्धारित
छह नवंबर 2007 को उत्तराखंड शासन ने भवन निर्माण उपविधियों/विनियमों में भवनों की ऊंचाई, भू-आच्छादन, एफएआर, पार्किंग संबंधी मानकों में संशोधन संबंधी आदेश जारी कर पर्वतीय और मैदानी क्षेत्र में मानक निर्धारित किए थे।

क्या होनी चाहिए भवन की ऊंचाई
भवन की ऊंचाई पर्वतीय क्षेत्र में 12 मीटर (40 फीट) और मैदानी क्षेत्रों में 21 मीटर (69 फीट) यानी कि पर्वतीय क्षेत्रों में तिमंजले तक ही भवन होने चाहिए, इससे ज्यादा नहीं। वहीं बदरीनाथ और केदारनाथ में भवनों की ऊंचाई 8.5 मी. और गंगोत्री में 6.5 मी. निर्धारित की गई है। पर्वतीय क्षेत्र में 7.5 मी. से ऊंचाई वाले भवन बनाने के लिए पहले इस आशय का प्रमाण पत्र प्राप्त करना होता है कि निर्माण स्थल भूगर्भीय दृष्टिकोण से उपयुक्त है या नहीं। प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आईआईटी रुड़की/पंतनगर विश्वविद्यालय के स्ट्रक्चरल डिजायन विशेषज्ञ अधिकृत हैं।

भवन हो रहे चिह्नित
मानकों के विरुद्ध निर्मित भवनों का चिह्नांकन किया जा रहा है। प्रक्रिया पूर्ण होने पर नोटिस भेजे जाएंगे। - डा. ललित नारायण मिश्र, नियत प्राधिकारी विनियमित क्षेत्र/एसडीएम सदर।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान
ज्योतिष समाधान

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
लोकसभा चुनाव - किस सीट पर बदले समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पड़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rudraprayag

मंदाकिनी नदी किनारे बनाया गया अस्थायी मार्ग बहा

मंदाकिनी नदी किनारे बनाया गया अस्थायी मार्ग बहा

18 अप्रैल 2019

विज्ञापन

उत्तराखंड़ की हरिद्वार लोकसभा सीट पर मतदाता पर्ची को लेकर हुआ बवाल, पुलिस ने जब्त की पर्चियां

देश में एक तरफ जहां लोकतंत्र के इस महापर्व में लोग उत्साह से भागीदारी ले रहे हैं। लेकिन इसी बीच कुछ सीटों पर आचार संहिता से उल्लंघन की भी खबरें सामने आई हैं।

11 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election