तीन दिन से रुद्रप्रयाग में पेयजल आपूर्ति ठप

Rudraprayag Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
रुद्रप्रयाग। पुनाड़ गदेरे में पानी कम हो या फिर ज्यादा। शहर क्षेत्र में जलापूर्ति दोनों की स्थितियों में ठप हो जाती है। हर वर्ष बरसात में गदेरे का प्रवाह बढ़ने पर रुद्रप्रयाग नगरीय पेयजल योजना के पाइप लाइन पानी में बह जाते हैं। साथ ही स्रोत भी क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। जिससे नगर में जलापूर्ति ठप होना नियति बन गई है।
जल संस्थान किसी तरह आपूर्ति बहाल भी करता है तो पानी इतना गंदा होता है कि वह पीने लायक नहीं होता। जल संस्थान आज तक इसका स्थायी समाधान नहीं ढूंढ पाया है। छह दिनों में शहर में कुछ घंटे ही उपभोक्ताओं को पेयजल लाइन से पानी मिल पाया है। 21 अगस्त की रात पुनाड़ गदेरे के उफान से मूल स्रोत चोक हो गए थे। गदेरे का पानी कम होने पर 23 अगस्त दोपहर बाद जलापूर्ति बहाल हुई। बाद में फिर पत्थर गिरने से पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। 24 अगस्त की सुबह संस्थान ने लाइन की मरम्मत कर आपूर्ति बहाल की। लेकिन सुबह लगभग 10 बजे बारिश होते ही गदेरे का जल स्तर बढ़ गया। जिससे जलापूर्ति ठप हो गई। तब से लोग प्राकृतिक स्रोतों और हैंडपंप से पानी भर रहे हैं।
इधर, जल संस्थान के ईई आरसी खंडूरी के अनुसार समस्या को देखते हुए विकल्प ढूंढा जा रहा है। विभागीय कर्मी लाइन की मरम्मत में जुटे हुए हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

केदारनाथ में दो वर्ष बाद फिर दिखा ये विलुप्त जानवर

केदारनाथ धाम में सरस्वती घाट क्षेत्र में हिमालयन फाक्स दिखाई दी। यहां लगे क्लोज सर्किट कैमरे में 43 सेकंड तक कैद हुआ यह दुर्लभ वन्य जीव बर्फ में अठखेलियां करता हुआ दिख रहा है। आपदा के बाद यह जीव यहां दूसरी बार नजर आया है।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls