पक्की नौकरी का झांसा देने वाला पुलिस के हत्थे चढ़ा

Rudraprayag Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
अगस्त्यमुनि/रुद्रप्रयाग। स्वास्थ्य विभाग की आशा कार्यकत्रियों को पक्की नौकरी और टीए/डीए का सपना दिखा रहा एक व्यक्ति पुलिस के हत्थे चढ़ गया। वह अपने को एक एनजीओ का डायरेक्टर बताकर आशाओं की मीटिंग ले रहा था। आरोपी की वजह से शांति भंग न हो, इसलिए पुलिस ने उसका चालान किया है।
स्वयं को क्यूपीडी वेलफेयर प्लान एंड आईएफएसडीपी नामक संस्था का निदेशक बताने वाले परमेश कोठारी उर्फ पवन निवासी टिहरी, हाल निवास माजरा देहरादून ने आशाओं से फोन पर संपर्क कर बैठक की तिथि तय की। शुक्रवार को वह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अगस्त्यमुनि में आशाओं की बैठक लेने आया। बैठक के दौरान वह आशाओं के समक्ष बड़ी-बड़ी बातें करने लगा। उसने कहा कि वह आशाओं को परमानेंट करा देगा। उनको टीए/डीए मिलने लगेगा और कहीं भी आने-जाने पर पूरी व्यवस्था करेगा। उसके दावों पर आशाओं को शक हो गया और उन्होंने पुलिस को फोन कर दिया। सूचना मिलने पर चौकी प्रभारी एसआई नरेश राठौर परमेश कोठारी को पकड़ कर थाने ले आए। पुलिस ने जब उससे एनजीओ का रजिस्ट्रेशन मांगा, तो वह दिखा नहीं पाया। न ही उसके पास कोई आईकार्ड मिला। राठौर ने बताया कि आशाओं की ओर से लिखित शिकायत मिली है और मामले की जांच पड़ताल चल रही है। पटेलनगर पुलिस से भी आरोपी का नाम-पता और गतिविधियों की जानकारी जुटाने के लिए संपर्क किया गया है। आरोपी अपनी एनजीओ का एकमात्र सदस्य है। आवश्यक दस्तावेजों और अन्य स्थानों से सूचना प्राप्त होने के बाद आरोपी के विरुद्ध धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया जाएगा।

Spotlight

Related Videos

केदारनाथ में दो वर्ष बाद फिर दिखा ये विलुप्त जानवर

केदारनाथ धाम में सरस्वती घाट क्षेत्र में हिमालयन फाक्स दिखाई दी। यहां लगे क्लोज सर्किट कैमरे में 43 सेकंड तक कैद हुआ यह दुर्लभ वन्य जीव बर्फ में अठखेलियां करता हुआ दिख रहा है। आपदा के बाद यह जीव यहां दूसरी बार नजर आया है।

4 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper