जा भुला तू दूर परेदश मां, हुनर सीखी औ गढ़देश मां...

Dehradun Bureau Updated Sun, 14 Jan 2018 10:33 PM IST
रुद्रप्रयाग। रुद्रनाथ महोत्सव का तीसरा दिन कवियों के नाम रहा। यूं तो कवि सम्मेलन में कवियों ने विभिन्न मुद्दों को उठाया, लेकिन अपनी कविता के जरिए प्रतिभाओं से पहाड़ को गुलजार करने की अपील ने दिलों को छू लिया। कवियों ने दिन प्रति दिन खाली हो रहे पहाड़ को दोबारा रोशन करने के लिए युवाओं से आह्वान किया।
गुलाबराय मैदान में आयोजित पांच दिवसीय रुद्रनाथ महोत्सव में रविवार को मुख्य आकर्षण साहित्यिक संस्था कलश का लोक कवि सम्मेलन रहा। इस मौके पर लोक कवियों ने देवभूमि उत्तराखंड की लोक संस्कृति, मकरैण मेला, बसंत, राजनीति आदि विषयों पर शानदार कविता पाठ किया। बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी राणा ने किया। कहा कि, इस तरह के आयोजनों से स्थानीय प्रतिभाओं को मंच के जरिए अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिल रहा है। इसके उपरांत महोत्सव में कलश के संस्थापक ओम प्रकाश सेमवाल ने लोक कवि सम्मेलन का संचालन करते हुए ‘जा भुला तू दूर परेदश मां हुनर सीखी औ’.. कविता के जरिए प्रतिभाओं से पहाड़ को गुलजार करने की अपील की। गीतकार व गायक अजय नौटियाल ने सच्ची हे सौज्ड्या ज्यौण कठिन ह्वेगी त्वे बिना.. गीत से प्रेम के भावों को बयां किया। वहीं, नागनाथ पोखरी से पहुंचे लोक कवि तेजपाल निर्मोही ने मां के महत्व को अपनी कविता मेरी ब्वे से अलग भगवान की मूरत नीं के माध्यम से बताया। गोपेश्वर से आए युवा कवि बृजेश रावत ने पहाड़ के बदलते परिवेश और छूटते रीति-रीवाजों को संरक्षण पर जोर देते हुए अभी भी वक्त च संभल जा उत्तराखंड़ियों.. कविता पाठ किया। उत्तरकाशी निवासी एवं लोक गायक व कवि ओम बधाणी ने देखी तेरी मुखड़ी, त फिर नीं देखी क्वीं और ओ सुवा प्यारी सुवा... कोठारी का खाण गीत गाए। इसके अलावा सिर चौड़ी सूरज, ज्वनी को घाम छैलण लगी.. कविता का पाठ भी किया। लोक कवि जगदंबा चमोला ने एक स्योर लग्दू छौ जींका धूड़ा पर, स्या बुडली च आज चारावास कूड़ा पर.. कविता से पलायन से खाली होते गांवों में रहे रहे बुर्जगों की व्यथा बयां की। युवा कवि ललित गुसाई ने ताड़ी फाड़ी माया की.. पड्यूं कें तीं आग मां... कविता पाठ किया। जबकि मन मोहन भट्ट ने दूर परदेश मां छौ लठ्याली बोर्डर का काख..कविता के जरिए एक फौजी के विरह को बयां किया। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य गोपाल सिंह पंवार, महावीर पंवार, योगंबर सिंह नेगी, देवेश्वरी देवी, संगीता नेगी ,अधिवक्ता एपी वाजपेयी के संचालन में हुए समारोह में नगर पालिकाध्यक्ष राकेश नौटियाल, सभासद संतोष रावत, पंकज बुटोला सहित अन्य गणमान्य मौजूद थे।
>>>>>>>>>>>

बेटी होती सबका सहारा ...
महोत्सव में जीआईसी रुद्रप्रयाग की छात्रा परमेश्वरी बुटोला ने बेटी होती सबका सहारा, न समको उसका कभी पराया और रीना रावत ने बेटी है मान तुम्हारा, न मारो उसको.. कविता के जरिए दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। ड
अनूप मेमोरियल पब्लिक स्कूल रहा अव्वल
रुद्रप्रयाग। उत्तराखंड और भारतवर्षा की संस्कृति, इतिहास, भूगोल सहित शिक्षा, स्वास्थ्य, विज्ञान, फिल्म, खेल आदि विषयों पर आधारित स्कूली बच्चों की क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई। प्रतियोगिता के जूनियर वर्ग में अनूप नेगी मेमोरियल पब्लिक स्कूल व सरस्वती शिशु मंदिर संयुक्त रूप से प्रथम व खृष्ट ज्योति पब्लिक स्कूल द्वितीय रहा। जबकि सीनियर वर्ग में अनूप नेगी मेमोरियल पब्लिक स्कूल ने प्रथम व सरस्वती विद्या मंदिर बेलणी ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि ने विजेता व उप विजेता टीम को ट्राफी भेंट कर पुरस्कृत किया। दूसरी तरफ महिलाओं की रस्सा-कस्सी प्रतियोगिता के फाइनल में वार्ड तीन व वार्ड 8 पहुंचे। फाइनल में वार्ड तीन व वार्ड 8 पहुंचे।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

केदारनाथ में दो वर्ष बाद फिर दिखा ये विलुप्त जानवर

केदारनाथ धाम में सरस्वती घाट क्षेत्र में हिमालयन फाक्स दिखाई दी। यहां लगे क्लोज सर्किट कैमरे में 43 सेकंड तक कैद हुआ यह दुर्लभ वन्य जीव बर्फ में अठखेलियां करता हुआ दिख रहा है। आपदा के बाद यह जीव यहां दूसरी बार नजर आया है।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper