भक्ति में अहंकार की कोई जगह नहीं  

अमर उजाला ब्यूरो/ऋषिकेश।   Updated Sat, 18 Mar 2017 12:26 AM IST
There is no place for ego in devotion
katha
कथावाचक पं. अनिल कृष्ण ने कहा कि भक्त अगर अपनी भक्ति पर अहंकार करने लगे तो, भगवान उसकी कठोर भक्ति से भी प्रसन्न नहीं होते। उन्होंने कहा कि सच्चे मन से प्रभु की शरण में आए भक्त को भगवान कभी निराश नहीं लौटने देते।
     
छिद्दरवाला में श्रीराम सेवा समिति और महिला कीर्तन मंडली की ओर से आयोजित श्रीमद् भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के सातवें दिन कथावाचक ने कहा कि जिस मनुष्य के मन में भाव नहीं होता, उसे कभी भगवान की प्राप्ति नहीं हो सकती।

भाव के बिना प्रभु भक्ति अधूरी है। अगर कि कठोर भक्ति के बावजूद अगर मनुष्य में अहंकार आ जाए, तो प्रभु कभी प्रसन्न नहीं हो सकते हैं। शुक्रवार को ज्ञानयज्ञ में सुदामा और भगवान श्रीकृष्ण की मित्रता प्रसंग की कथा श्रवण कराई। धार्मिक अनुष्ठान में मुकेश धनै, योगेश नवानी, दीपिका सेमवाल, वीरेंद्र नौटियाल आदि मौजूद थे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

हिंदी न अंग्रेजी, इस भाषा में छपवाया शादी का कार्ड, रस्में भी परंपरागत

संस्कृत से दूर भागती युवा पीढ़ी को समस्त भाषाओं की जननी संस्कृत का महत्व समझाने का बीड़ा मेरठ शहर के युगल ने उठाया है।

16 फरवरी 2018

Related Videos

उत्तराखंड स्पीकर ने अधिकारियों को लगाई फटकार

उत्तराखंड विधानसभा के स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल का उच्चाधिकारियों के साथ मीटिंग करते एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में प्रेमचंद अग्रवाल अधिकारियों को उनकी लेट-लतीफी और काम में ढिलाई के फटकारते दिख रहे हैं।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen