आरक्षण के विरोध में निकाला मशाल जुलूस

Pithoragarh Updated Thu, 20 Dec 2012 05:31 AM IST
बेरीनाग। पदोन्नति में आरक्षण समाप्त करने की मांग पर अधिकारी-कर्मचारी-शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने बेरीनाग में मशाल जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने राज्य सभा में आरक्षण को समर्थन देने वाली भाजपा, कांग्रेस और बसपा के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सबक सिखाने का ऐलान किया। कर्मचारियों ने केंद्र सरकार पर जातिवाद को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया है।
मोर्चे के संयोजक रवींद्र सिंह मेहता के नेतृत्व में कर्मचारियों ने लोनिवि के विश्राम गृह में एकत्रित होकर मुख्य बाजार से होकर शहीद चौक तक मशाल जुलूस निकाला। इस अवसर पर हुई सभा में कर्मचारियों ने कहा कि पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था लागू होने से कर्मचारियों के मनोबल में विपरीत असर पड़ रहा है। इसलिए वक्त रहते इसे समाप्त करना जरूरी है।
कर्मचारी नेता एनएस रावत ने कहा कि अगर सरकारी नौकरियों में एससी-एसटी को आरक्षण संबंधी संविधान संशोधन बिल लोकसभा में भी पारित होता है तो आंदोलन को उग्र रूप दिया जाएगा। इस अवसर पर कर्मचारी नेता चंद्र रौतेला, हरीश उपाध्याय, बीएस कोरंगा, केके जोशी आदि मौजूद थे।
चंपावत में पदोन्नति में आरक्षण के विरोध में उत्तराखंड कर्मचारी शिक्षक संघर्ष समिति का कार्य बहिष्कार बुधवार तीसरे दिन भी जारी रहा। कलक्ट्रेट परिसर में जेएस अधिकारी की अध्यक्षता एवं भूपेंद्र जोशी के संचालन में हुई सभा में कर्मचारी नेताओं ने आरक्षण संबंधी विधेयक लोक सभा में पेश किए जाने के प्रयासों की निंदा की।
इस मौके पर हेम चंद्र उप्रेती, गोविंद सिंह बोहरा, पूरन सिंह रावत, आनंद ओली, जगत चंद, रमेश देव, डीके पंत, जीवन ओली, रवींद्र पांडेय सहित विभिन्न विभागों के कर्मचारी उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls