महिलाएं भी कर रहीं आंदोलन का समर्थन

Pithoragarh Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
बेरीनाग। सड़क की मांग पर लछिमा में चल रहा आमरण अनशन तीसरे दिन भी जारी रहा। स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान आंदोलनकारियों के स्वास्थ्य में गिरावट दर्ज की गई। चिकित्सकों ने अनशनकारियों से तत्काल आंदोलन समाप्त करने की नसीहत दी है। नागरिकों ने मांग पूरी न होने तक आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया है। वहीं आंदोलन को महिलाओं का भी खूब समर्थन मिल रहा है।
आंदोलन स्थल पर आयोजित सभा में संघर्ष समिति के अध्यक्ष देवीदत्त पाठक ने कहा कि राज्य गठन के बारह वर्षों में यहां तीन सरकारें काबिज हो चुकी हैं। लेकिन किसी भी सरकार ने क्षेत्र में सड़क बनाने की दिशा में कोई कार्य नहीं किया। कहा कि क्षेत्र में सड़क नहीं होने से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस बार मांग पूरी हुए बिना आंदोलन समाप्त नहीं किया जाएगा। इससे पूर्व आंदोलन के तीसरे दिन बेरीनाग के फार्मेसिस्ट नरेंद्र सिंह रावत ने आमरण अनशन में बैठे पीतांबर पाठक और मथुरा दत्त पाठक का स्वास्थ्य परीक्षण किया। बताया गया कि अनशन की वजह से आंदोलनकारियों का वजन पांच किलो कम हो गया है।
उन्होंने बताया कि अगर अनशन इसी प्रकार से जारी रहा, तो स्थिति गंभीर हो सकती है। इस अवसर पर शेर सिंह कार्की, बसंत बल्लभ पाठक, दलीप महरा, दिनेश पाठक, गोविंद पाठक, भावना महरा, भुवन पाठक, होशियार कार्की, दीवान राम, प्रकाश महरा आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls