अल्ट्रासाउंड केंद्रों की होगी आकस्मिक चेकिंग

Pithoragarh Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
पिथौरागढ़। जिले में घटते लिंगानुपात पर चिंता व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी सीएमएस बिष्ट ने महीने में दो बार अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर आकस्मिक छापा मारने के निर्देश दिए। उन्होंने गर्भ निर्धारण करते पाए जाने पर गर्भधारण पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम की सक्षम धाराओं में कार्रवाई किए जाने की बात कही।
जिला कार्यालय सभागार में हुई प्रसव पूर्व निदान तकनीकी सलाहकार (पीएनडीटी) समिति की बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी जेएस पंागती ने बताया कि जिले में 2001 में हुई जनगणना के आधार पर शून्य से छह वर्ष के बच्चों का लिंगानुपात 1000 पर 902 था। जो 2011 की जनगणना में घटकर 1000 पर मात्र 812 रह गया है। ये तस्वीर बेहद चिंताजनक है। बताया कि जिन क्षेत्रों में अल्ट्रासाउंड की व्यवस्था नहीं है, वहां पर लिंगानुपात की दर में बढ़ोतरी हुई है। डीएम ने घटते लिंगानुपात पर चिंता जताते हुए इसकी रोकथाम के लिए सभी को साथ लेकर चलने की बात कही।
कार्यक्रम समन्वयक एमके मौर्य ने बताया कि आगामी दो-तीन माह के भीतर सभी अल्ट्रासाउंड मशीनों में ट्रेकिंग व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। जिससे लिंग निर्धारण का ऑनलाइन पता चल सकेगा। बैठक में जिला महिला चिकित्सालय में एक लाख रुपये मानदेय में स्त्रीरोग विशेषज्ञ के अलावा दो स्टाफ नर्सो की नियुक्ति करने पर सहमति बनी। इस अवसर पर महिला अस्पताल की सीएमएस निर्मला पुनेठा, पालिकाध्यक्ष राजेंद्र सिंह रावत, वरिष्ठ कोषाधिकारी हेमेंद्र गंगवार, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी बीएमएस टोलिया, उषा गर्ब्याल, महेश पांडे, महेश मखौलिया आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017