भोले के दर्शन कर आठवां दल भी लौटा

Pithoragarh Updated Wed, 08 Aug 2012 12:00 PM IST
पिथौरागढ़/डीडीहाट। कैलास मानसरोवर की परिक्रमा पूरी करने के बाद आठवें जत्थे के यात्रियों के चेहरों में अलौकिक आनंद देखने को मिला। कैलास मानसरोवर के दर्शन करने के बाद खुद को सौभाग्यशाली महसूस कर रहे यात्रीगण डर और रोमांच का दृश्य पैदा करने वाली काली नदी का दृश्य देखकर भी यात्री गदगद हैं।
कैलास मानसरोवर की परिक्रमा पूरी कर पिथौरागढ़ स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) के पर्यटन आवास गृह पहुंचे 39 सदस्यीय आठवें यात्रा दल का प्रबंधक दिनेश गुरुरानी ने स्वागत किया। सभी ने यात्रियों को विशेष सुविधाएं देने वाले केएमवीएन, जिला प्रशासन और आईटीबीपी का आभार व्यक्त किया। यात्रा दल के जन संपर्क अधिकारी (एलओ) जेएस रावत ने बताया कि पूरे यात्रा मार्ग में यात्रियों को किसी भी प्रकार की दिक्कतें नहीं आईं। सभी यात्रियों की सुरक्षा और सहूलियत का विशेष ध्यान रखा गया था। चीन सीमा तक आईटीबीपी के जवानों का पूरा सहयोग मिला। उसके आगे भी चीनी अधिकारियों ने यात्रियों को पूरी सुविधाएं प्रदान कीं।
यात्रियों को यात्रा से लौटते समय ओम पर्वत के भी दर्शन हुए। ऊंची पहाड़ियों से काली नदी का दृश्य मन को रोमांचित करने वाला रहा। यहां दिन का भोजन करने के बाद यात्रा दल जागेश्वर धाम के लिए रवाना हुआ।
उधर, मिर्थी स्थित कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के मुताबिक यात्रा का नौवां दल थुगु, दसवां दल जोंगजेबू नामक स्थान पर पहुंचा है। ग्यारहवें दल के यात्रियों का मंगलवार को गुंजी में स्वास्थ्य परीक्षण हुआ। सभी 57 यात्रियों को आगे की यात्रा की अनुमति मिल गई है। एक महिला यात्री ने एलओ पर यात्रा के दौरान अभद्रता करने का आरोप लगाया। जबकि एलओ ने आरोप से इंकार किया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017