क्षति को कम कर सकता है बेहतर प्रबंधन

Pithoragarh Updated Tue, 19 Jun 2012 12:00 PM IST
पिथौरागढ़। पंचायती एवं नगर निकाय के सदस्यों एवं कार्मिकों को आपदा से निपटने के लिए टिप्स दिए गए। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) एवं इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) की पहल पर शुरू हुए इस प्रशिक्षण का मकसद आपदा प्रबंधन के क्षेत्र की तकनीक एवं नवीनतम नियमों की जानकारी देना है।
पीजी कालेज सभागर में हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि आपदा प्रबंधन विशेषज्ञ प्रो.आरसी पांडेय ने कहा कि आपदाओं को पूरी तरह रोकना मुमकिन नहीं है। लेकिन बेहतर प्रबंधन से इसके नुकसान को कम से कम जरूर किया जा सकता है। इससे निपटने के सभी पुख्ता प्रबंध वक्त पर किए जाने चाहिए। अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डा.डीएस पांगती ने कहा कि कर्मचारी, जन प्रतिनिधि एवं युवा वर्ग के आपसी समन्वय से आपदा के वक्त राहत कार्य बेहतर तरीके से संचालित किया जा सकता है।
डा.सीडी सूंठा ने आपदा प्रबंधन में विभिन्न संगठनों के सहयोग पर विशेष बल दिया। कार्यशाला का संचालन करते हुए इगभनू के समन्वयक डा.जीसी पंत ने कार्यशाला के उद्देश एवं पंचायत प्रतिनिधियों की आपदा रोकने में भूमिका पर प्रकाश डाला। प्रोजेक्टर एवं स्लाइड शो के माध्यम से भी आपदा प्रबंधन संबंधी जानकारी दी गई।
आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारी एवं संदर्भ व्यक्ति डा.आरएस राणा ने आपदा के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों की जानकारी दी। आपदा से बचाव की तैयारी, समुदाय की भूमिका, आपदा राहत मानक, पुनरस्थापना संबंधी कार्रवाई और नीतियों आदि की जानकारी दी। धीरेंद्र सिंह महरा ने भूकंप के वक्त सुरक्षा के उपाय बताए। प्रशिक्षण में बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Mahoba

मंडल में जीएसटी की कम वसूली देख अधिकारियों के कसे पेंच

कर चोरी पर अब होगी सख्त कार्रवाई-

19 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper