जंगल जलते रहे वन कर्मी सोए रहे

Pithoragarh Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
थल (पिथौरागढ़)। रोम जल रहा था, नीरो बंशी बजा रहा था, यह कहावत थल क्षेत्र के वन कर्मियों पर फिट बैठती है। रविवार की दोपहर से हजेती और पड़ियात के जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए वन महकमे का अदना सा कर्मचारी भी मौके पर नहीं पहुंचा है। क्रू स्टेशनों में तैनात कर्मी नदारद हैं। अखबारों में दिए क्रू स्टेशनों के कर्मचारियों के फोन नंबर पर संपर्क नहीं हो पाया। आग 14 किमी एरिया में फैल चुकी है।
दोपहर से सुलगी आग ने शाम तक भीषण रूप धारण कर लिया है। कालीगाड़ से हजेती और पड़ियात तक फैली आग से पूरे वातावरण में धुंध छा गई है। लोग उम्मीद कर रहे थे कि हजेती और अन्य क्रू स्टेशनों में तैनात वन कर्मी आग बुझाने के लिए आगे आएंगे, लेकिन वन महकमे में हरकत तक नहीं हुई। एक-आद किमी क्षेत्र में फैली आग शाम होने तक लगभग 14 किमी एरिया में फैल गई है।
आग से तमाम पेड़ तो धराशाई हुए ही हैं, जीवन रक्षक वन औषधि को भी व्यापक नुकसान पहुंचा है। यह जंगल जंगली जानवरों की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है। दावाग्नि से जंगली जानवरों के भी मारे जाने की आशंका है। लोगों में वन विभाग के रवैये के प्रति खासी नाराजगी है। ग्रामीणों ने वन विभाग को वनाग्नि रोकने के लिए दी गई धनराशि की जांच करने की मांग उठाई है। कहा है कि गैर जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जानी चाहिए।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls