पीसीएस परीक्षा को लेकर गढ़वाल में अभ्यर्थियों में नहीं रहा उत्साह

Pauri Updated Mon, 01 Dec 2014 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
गढ़वाल। गढ़वाल के पर्वतीय जिलों में 51 परीक्षा केंद्रों पर पीसीएस की परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई। परीक्षा को लेकर अभ्यर्थियों में उत्साह नहीं दिखा। गढ़वाल में 9793 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। जबकि 5456 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। गढ़वाल के विभिन्न केंद्रों में 15249 अभ्यर्थियों को शामिल होना था। पौड़ी शहर में पांच केंद्रों पर हुई परीक्षा में 722 अभ्यर्थी शामिल हुए। जबकि 375 गैरहाजिर रहे। यहां 1097 अभ्यर्थियों ने परीक्षा देनी थी। अपर जिलाधिकारी बीएस चलाल ने बताया कि सभी केंद्रों में परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हुई।
श्रीनगर में राज्य सिविल प्रवर अधीनस्थ सेवा प्रारंभिक परीक्षा सात केंद्रों पर आयोजित हुई। यहां 2149 अभ्यर्थियों में से 1729 ने परीक्षा दी, जबकि 418 अनुपस्थित रहे। राज्य सिविल प्रवर अधीनस्थ सेवा प्रारंभिक परीक्षा के दौरान अभ्यर्थियों को दिए गए उपस्थिति पत्रक में प्रशभन पत्र क्रमांक व उत्तर पुस्तिका क्रमांक के लिए बनाए गए कालमों की संख्या एक कम होने से अभ्यर्थी असमंजस में रहे। वहीं ओएमआर सीट की कार्बन कापी नहीं देने पर भी अभ्यर्थियों ने रोष जताया।
उत्तरकाशी। जिले में पीसीएस की परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई। एसडीएम केके सिंह ने बताया कि जिले में सात परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। जिला शिक्षा अधिकारी चेतन नौटियाल ने बताया कि जिले के सात परीक्षा केंद्रों पर 2120 अभ्यर्थियों की व्यवस्था की गई थी। इसमें से 366 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे।
गोपेश्वर। चमोली जिले मेें राज्य सिविल और प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा मेें 2120 अभ्यर्थियाें में से 1627 अभ्यर्थी शामिल हुए। अपर जिलाधिकारी मेहरबान सिंह बिष्ट ने बताया कि परीक्षा के सफल संचालन के लिए नगर मेंजीआईसी, जीजीआईसी, पीजी कालेज, जीआईसी माणा-घिंघराण, सरस्वती विद्या मंदिर, आदर्श विद्या मंदिर, गुरु राम राय पब्लिक स्कूल और सुबोध प्रेम विद्या मंदिर में परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।
नई टिहरी। एसडीएम सदर डा. आशीष त्रिपाठी ने बताया कि जिले में छह परीक्षा केंद्रों में 1024 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए, जबकि 321 अनुपस्थित रहे। परीक्षा के लिए चंबा में दो और जिला मुख्यालय में चार परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।
रुद्रप्रयाग। जिले के छह परीक्षा केंद्रों पर 1124 अभ्यर्थियों ने पीसीएस परीक्षा दी। जीआईसी रुद्रप्रयाग के परीक्षा केंद्र के आगे स्वामी सच्चिदानंद के बजाय श्रद्धानंद लिखे होने से अभ्यर्थियों को परेशानी झेलनी पड़ी। नोडल अधिकारी एसडीएम लक्ष्मी राज चौहान ने बताया कि 1420 पंजीकृत अभ्यर्थी थे। जीआईसी रुद्रप्रयाग, जीजीआईसी रुद्रप्रयाग, जीआईसी रतूड़ा, डायट रतूड़ा, सरस्वती विद्या मंदिर बेलणी और गुरु राम राय पब्लिक स्कूल तिलणी परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।



12 केंद्रों में 1813 परीक्षार्थियों ने दी परीक्षा
कोटद्वार। शहर और भाबर में 12 परीक्षा केंद्रों पर पीसीएस परीक्षा में 1813 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। 3187 परीक्षार्थियों के अनुपस्थित रहे। कोटद्वार के टीसीजी पब्लिक स्कूल में 550, जीजीआईसी घमंडपुर में 150, एसजीजीआर पदमपुर में 500, मेहरबान सिंह कंडारी सरस्वती विद्या मंदिर में 400, महर्षि विद्या मंदिर में 300, डीएवी पब्लिक स्कूल में 550, राजकीय महाविद्यालय में एक हजार, इंटर कालेज मोटाढाक में 250, जीआईसी कोटद्वार में 400, सरस्वती विद्या मंदिर जानकीनगर में 400, सरस्वती विद्यामंदिर मोटाढाक में 200, बाल भारती स्कूल मोटाढाक में 300 परीक्षार्थियों की परीक्षा में बैठने की व्यवस्था की गई थी।

बसों के लिए परेशान रहे परीक्षार्थी
विभिन्न स्थानों से पहुंचे परीक्षार्थियों को बसों के लिए भटकना पड़ा। दिल्ली के परीक्षार्थियों को बस के लिए इंतजार करना पड़ा। हालांकि रोडवेज ने पहले से ही इसकी व्यवस्थाएं की थी, लेकिन भीड़ के चलते बसें कम पड़ गई। कुमाऊं मंडल जाने वालों के लिए नजीबाबाद-हरिद्वार तक के लिए छह बसें अतिरिक्त चलाई गई। जबकि दिल्ली रूट के लिए 12 बसें अतिरिक्त लगाई गई हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Agra

यूपी: सिलेंडर फटने से 2 मंजिला मकान गिरा, 5 की मौत, 8 घायल

आगरा में दर्दनाक हादसा हो गया। थाना इरादतनगर के गांव डाडकी में गैस सिलेंडर फटने से 5 लोगों की मौत हो गई है। हादसे में 6 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

23 जुलाई 2018

Related Videos

VIDEO: त्रिवेंद रावत को किसने दी पत्थर मारने की धमकी?

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत एक बार फिर से विवादों में हैं। एक बार फिर उन्हें एक महिला ने खरी-खोटी सुना दी। दरअसल सीएम पूरे लाव लश्कर के साथ पौड़ी बस हादसे के बाद मौके पर पहुंचे थे

3 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen