बेटों से कम नहीं हमारी बेटियां

Pauri Updated Wed, 22 Jan 2014 05:47 AM IST
पौड़ी। लड़काऔर लड़की में भेदभाव रखने वालों को रावत दंपति और उनकी बेटियां नई प्रेरणा दे रही है। इस दंपति की एक बेटी इंटर मेें स्कूल टॉप करने के बाद दिल्ली में पढ़ाई के साथ-साथ निर्धन बच्चों को निशुल्क ट्यूशन पढ़ाकर अपनी अलग पहचान बना रही है, तो दूसरी बेटी दून में इंजीनियरिंग कर रही है।
विकास मार्ग निवासी गिरीश रावत राजकीय इंटर कालेज दोमटखाल में गणित के प्रवक्ता हैं। उनकी पत्नी सुमित्रा रावत गुरुराम राय स्कूल में शिक्षिका हैं। रावत दंपति की दो बेटियां है। इनमें गरिमा बड़ी और महिमा छोटी बेटी है। रावत दंपति को अपनी बेटियों की सफलता पर नाज है। यही वजह से है कि वे अपनी बेटियों को बेटों से बेहतर मानते हैं। बड़ी बेटी गरिमा रावत ने पहले केंद्रीय विद्यालय से 89 फीसदी अंकों के साथ इंटर किया। वर्तमान में ग्राफिक एरा देहरादून से इंजीनियरिंग कर रही है।
छोटी बेटी ने वर्ष 2012 में आईसीएसई बोर्ड 12वीं की परीक्षा में 94.4 फीसदी अंक अर्जित कर स्कूल टॉप किया। अब दिल्ली विवि के वेन्टेस कालेज से बीएससी आनर्स की पढ़ाई कर रही है। साथ ही कालेज के गुरुजनों द्वारा बनाई गई एक संस्था से जुड़कर निर्धन वर्ग के बच्चों को निशुल्क ट्यूशन भी पढ़ा रही है।

लड़कियां अपने हर कार्य को जिम्मेदारी से करती है। उन्हें उनके स्तर की जिम्मेदारी देने की जरूरत होती है। हमने अपनी लड़कियों को हमेशा उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेेरित किया। उनके स्तर की जिम्मेदारियां सौंपी। उनकी सफलता पर हमें नाज है। पढ़ाई और अन्य कार्यों के साथ घरेलू कार्यों को वह जिम्मेदारी के साथ करती हैं। पहले कई लोगों की ओर से हमसे कई बार यह भी कहा गया कि बेटा होना जरूरी होता है। हमने इसका विरोध किया। बेटा-बेटी में भेदभाव करना गलत है। हम अपनी बेटियों को बेटों से कहीं कम नहीं पाते हैं।
-गिरीश रावत, सुमित्रा रावत

मम्मी और पापा ने हमें कभी लड़की होने का अहसास नहीं होने दिया। हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। जिम्मेदारी को बखूबी से निभाने की सीख दी, जिसकी बदौलत आज हम अपनी जिम्मेदारियों को समझ रहे हैं। उन्हें निभाने का प्रयास कर रहे हैं।
-गरिमा रावत

हमें इस स्तर पर पहुंचाने में मम्मी और पापा का अहम योगदान रहा है। उन्होंने हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने के साथ अच्छे संस्कारों की सीख दी। किसी भी कार्य में हतोत्साहित नहीं किया, जिससे हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिल रही है। अपने लक्ष्य को पूरा करने में मदद मिल रही है
-महिमा रावत

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper