प्याज की खेती से बदलेगी ‘तकदीर’

Pauri Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
पौड़ी। राठ क्षेत्र के तीन गांवों सैंजी, बुरांसी और पचलोड़ी के किसानों की किस्मत जल्द चमकनेवाली है। वीर चंद्र सिंह गढ़वाली औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय भरसार ने इन गांवों की कृषि भूमि पर प्याज की उन्नत प्रजाति एग्री फाउंड लाइट रेड की खेती कर ‘प्याज गांव’ के रूप में विकसित करने की योजना बनाई है। विशेषज्ञों ने तीनों गांवाें के 170 काश्तकारों की करीब 110 नाली भूमि चिह्नित की है।
राठ क्षेत्र में प्याज के उत्पादन की बेहतर संभावनाएं हैं। कुछ किसान पहले से ही इसकी खेती कर कर रहे हैं। अब औद्यानिकी एवं वानिकी विवि की योजना से सैंजी, बुरांसी और पंचलोड़ी गांव को प्याज के गांव के रूप में पहचान मिल सकेगी और क्षेत्र में प्याज की खेती को प्रोत्साहन मिलेगा। चिह्नित किसानों को विश्वविद्यालय एग्री फाउंड लाइट रेड प्रजाति का बीज उपलब्ध कराएगा। प्याज की खेती की तरफ किसानों का रुझान बढ़ाने और बेहतर उत्पादन को विवि के विशेषज्ञ समय-समय पर तकनीकी प्रशिक्षण भी देंगे। पहले चरण में चिह्नित किसानों को 20 किलोग्राम बीज निशुल्क वितरित किया जाएगा।
विवि ही करेगा विपणन की व्यवस्था
विवि प्रशासन के मुताबिक तीनों गांवों में न सिर्फ प्याज की खेती प्रोत्साहित की जाएगी, बल्कि वहां पैदा होने वाले प्याज का विपणन का जिम्मा भी विवि की उठाएगा। इसके लिए स्वयं सहायता समूह गठित किए जाएंगे। यानी, किसान जहां विवि की मदद से प्याज की अच्छी पैदावार कर सकेंगे, वहीं बाजार की चिंता भी नहीं रहेगी।
‘एक नाली भूमि में आठ कुंतल प्याज’
औद्यानिकी और वानिकी विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की माने तो ‘एग्री फाउंड लाइट रेड’ प्याज की सबसे उन्नन प्रजाति है। विवि के निदेशक (विस्तार) डा. एसएस सिंह बताते हैं इस प्रजाति के बीज से एक नाली में आठ कुंतल प्याज पैदा किया जा सकता है। इसकी भंडारण क्षमता भी अधिक होती है। विवि के डीन डा. केडी शर्मा के मुताबिक राठ क्षेत्र की भूमि प्याज उत्पादन के लिहाज से काफी उपयुक्त है और इससे क्षेत्र के किसान आर्थिक रुप से मजबूर होंगे।
कोट
किसान कर रहे योजना का स्वागत
विश्वविद्यालय की प्याज की उन्नत खेती की योजना से किसान खुश हैं। तीन गांव ही नहीं, बल्कि आसपास के गांव भी बेहतर खेती कर आजीविका सुधार सकेंगे। हर कोई इस पहल का स्वागत कर रहा है।
- विजय सिंह, ग्राम प्रधान चपलोड़ी।
सैंजी को प्याज गांव के रुप में विकसित करने की योजना की जानकारी मिलने के बाद गांव के किसानों की उम्मीद बंधी है। गांव की मिट्टी अच्छी है। सही मार्गदर्शन मिला तो लोग अच्छी खेती करके दिखाएंगे। इससे लाभ भी हमारा ही होना है।
- विक्रम भंडारी, ग्राम प्रधान सैंजी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017