रिया को कैसे बताएं कहां गए पापा

Pauri Updated Sat, 29 Sep 2012 12:00 PM IST
कोटद्वार। कमल बिष्ट को गायब हुए एक महीना होने वाला है, लेकिन उसका अभी तक कुछ पता नहीं चल पा रहा है। वह पांच सितंबर को गायब हुआ था। उसकी तीन वर्षीय बेटी रिया कभी दादी से तो कभी अपनी मां से पापा के बारे में पूछती है। उस मासूम बच्ची को वे कैसे समझाएं कि उसके पापा कहां गए। उसका कहीं कुछ पता नहीं चल रहा है। पुलिस का साथ नहीं मिलने पर परिजन अब किस्मत के सहारे हैं। हालांकि वह अपनी ओर से लगातार कोशिश जारी रखे हुए हैं।
पांच सितंबर को गाजियाबाद से घर के लिए निकला सत्तीचौड़ कोटद्वार निवासी कमल बिष्ट का पता नहीं चल पाया है। वह वहां पर किसी कंपनी में सुपरवाइजर के पद पर काम कर रहा था। परिवार के लोग कई बार गाजियाबाद जा चुके हैं, लेकिन पुलिस का रुख सही नहीं है। परिजनों की मानें तो जो कुछ भी हुआ होगा उसके साथ के ही अन्य चार-पांच साथियों ने किया होगा। मामला उत्तर प्रदेश से जुड़ा होने के चलते परिजनों को भी इस मामले के संबध में जानकारी लेने और वहां पर लगातार पुलिस से संपर्क करने में दिक्कतें हो रही हैं।


सहकर्मी को लिया हिरासत में
-परिजनों के मुताबिक, उसके साथ काम करने वाले इटावा निवासी संदीप यादव को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। यादव कुछ समय पहले अपने घर से गायब हो गया था। पुलिस पड़ताल के लिए उसके इटावा स्थित घर गई थी। लेकिन घर पर कोई नहीं मिला था। अब गाजियाबाद पुलिस ने उसको पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

परिवार के सामने संकट
-बिष्ट के परिवार के सामने बड़ा संकट खड़ा हो रखा है। आर्थिक तंगी के चलते परिजन लगातार गाजियाबाद में ही डेरा नहीं डाल सकते। बूढ़े और सरल मां-बाप के सामने दुविधा है। बेटे की ढूंढ करें या उसकी पत्नी को समझाएं। बिष्ट की तीन वर्षीय बच्ची और डेढ़ माह के बेटे के भविष्य के बारे में भी बूढ़े मां बाप चिंतित दिख रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls