महंगाई के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग

Pauri Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
कोटद्वार/लैंसडौन। शनिवार का दिन महंगाई के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के नाम रहा। कई संगठनों ने महंगाई और गैस और पेट्रो पदार्थों की कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ सड़कों पर उतरकर विरोध जताया। केंद्र सरकार के पुतले फूंके गए।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और यूथ अगेंस्ट करप्शन से जुडे़ युवाओं ने अपने अपने तरीके से महंगाई का विरोध किया। विद्यार्थी परिषद ने झंडाचौक पर प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया। मालवीय उद्यान में जमा होने के बाद परिषद के कार्यकर्ताओं ने गैस सिलेंडर लेकर जुलूस प्रदर्शन किया। पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष प्रवीण पुरोहित ने कहा कि केंद्र सरकार ने जनता को नहीं जीने देने की कसम ले ली है। इसके चलते ही इस तरह के निर्णय लिए जा रहे हैं। यूथ अगेंस्ट करप्शन के जिलाध्यक्ष अनूप थपलियाल की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें सरकार की नीतियों का विरोध किया गया। कहा गया कि केंद्र सरकार घोटालों के उजागर होने के बाद बौखलाहट में इस तरह के निर्णय ले रही है।
दूसरी तरफ, लैंसडौन में डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाने के खिलाफ महिलाओं ने प्रदर्शन किया। इस मौके पर महिलाओं ने कहा कि गैस सिलेंडर महंगे हो जाने से उन पर दबाव बढ़ रहा है। महिलाओं ने कहा कि महंगाई और सरकार की अन्य गलत नीतियों का बदला आगामी चुनाव में लिया जाएगा। साथ ही सरकार को उखाड़ फेंकने का भी संकल्प लिया गया। प्रदर्शन करने में लता, शांति, उर्मिला वर्मा और ममता गुप्ता सहित कई महिलाएं शामिल रहीं।




कुछ तो करो जतन, कम हो महंगाई
दुकानदार हो या ग्राहक, महंगाई से उपजी स्थिति में सब दु:खी
अमर उजाला ब्यूरो
कोटद्वार। लगातार बढ़ने वाली महंगाई की चिंता ने सबके होश उड़ा दिए हैं। चाहे वह दुकानदार हो, व्यापारी हो या फिर गृहणी। सब चिंतित हैं कि आखिर इन स्थितियों में कैसे गुजारा हो पाएगा। आम आदमी की चिंता इस बात पर है कि उसकी कमाई कम और खर्चा ज्यादा हो रहा है। दुकानदार और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों से जुडे़ लोग मानते हैं कि महंगाई है, तो आम आदमी उनके प्रतिष्ठान का रुख ही नहीं करेगा। इसका सीधा असर उनकी आजीविका पर पडे़गा। अलग-अलग वर्गों का प्रतिनिधित्व करने वालों से जब बातचीत की गई, तो सबके मुंह से एक ही आवाज निकली, कुछ करो जतन, कम करो महंगाई।

इनकी राय, इनका नजरिया
-पेट्रोल पंप संचालक बोधराज घई का कहना है कि डीजल के दाम बढ़ने से उसकी खरीद पर असर तो पड़ना ही है। लोग कम खर्च करेंगे। बिक्री घटेगी। साथ ही गरीबों के ऊपर भी संकट आ गया है। मिट्टी का तेल न मिलने के कारण गरीब मजदूर डीजल से अपना स्टोव जला रहे थे। अब महंगाई उनको भी प्रभावित करेगी
-जीएमओयू के अध्यक्ष/प्रबंध निदेशक जीत सिंह पटवाल का कहना है कि डीजल के बढ़े दामों को देखते हुए उन्होंने प्रदेश सरकार को पत्र लिख दिया है कि उन्हें किराया बढ़ाने की अनुमति दी जाए। नहीं तो बसें संचालित कर पाना कठिन होगा। पहाड़ में बसें नहीं चला पाएंगे। जहां पर डीजल पर प्रतिदिन 60 हजार खर्च हो रहा था, वहीं अब लगभग 70 हजार रुपए खर्च हो जाएगा। इसलिए बिना किराया बढ़ाए उनका काम नहीं हो सकता है।
-उत्तराखंड परिवहन निगम कोटद्वार के एआरएम वी के सैनी का कहना है कि कोटद्वार में प्रतिमाह लगभग 6 लाख रुपए के डीजल का अतिरिक्त भार निगम पर पड़ेगा। इस समय प्रतिमाह लगभग 52 लाख रुपये डीजल के खर्चे पर व्यय हो रहे हैं। किराया बढ़ाने के बारे सरकार ही कोई निर्णय ले सकती है।
-गृहिणी उर्मिला थपलियाल का कहना है कि छह सिलेंडरों में काम होना कठिन है। वहीं सातवां सिलेंडर दोगुने दाम में लेना भारी पड़ेगा। केंद्र सरकार को गैस और डीजल के दामों में की गई बढ़ोतरी को वापस लेना पड़ेगा। अन्यथा लोग विरोध को और भी तेज कर देंगे।




घर में जरूर रखिए ब्लू बुक
देहरादून। अब गैस के लिए ब्लू बुक (गैस डिलीवरी के दौरान दिए जाने वाले कूपन की बुक) का महत्व बढ़ गया है। देर शाम पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइंस एजेंसी संचालकों को मिल गई। इसके अनुसार अब हर डिलीवरी का ब्योरा ब्लू बुक में दर्ज किया जाएगा। इससे पता चल जाएगा कि कितने सब्सिडी सिलेंडर मिल चुके हैं। यह बुक उपभोक्ता के पास ही रहेगी। ऐसे में अब कनेक्शन के साथ ब्लू बुक लेना अनिवार्य हो गया है।
इनका करना होगा पालन
-डिलीवरी के बाद कूपन फाड़ें नहीं, अब कूपन पर पूरा ब्योरा, नाम, पता, फोन नंबर दर्ज किया जाएगा
-उपभोक्ता के घर में न होने पर डिलीवरी लेने वाले परिजनों को उपभोक्ता से अपना संबंध लिखना होगा
-संबंधी के नाम पर कनेक्शन चला रहे लोगों को कनेक्शन अपने नाम कराना होगा (कनेक्शन पति-पत्नी के नाम पर ही होना चाहिए)
(दून गैस डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता तनवीर सिंह का कहना है कि अभी कुछ और गाइड लाइन मिल सकती हैं)

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper