आपदा प्रभावितों की हर संभव मदद होगी : मुख्यमंत्री

Pauri Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
ऊखीमठ। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने शनिवार को जीआईसी ऊखीमठ में बने राहत शिविर में पहुंचकर प्रभावितों का हालचाल पूछा। प्रभावितों के विस्थापन समेत हर संभव सहयोग का आश्वास देते हुए उन्हाेंने कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरा तंत्र उनके साथ है। सीएम ने आला अफसरों से भी हालात पर चर्चा की और जरूरी निर्देश दिए। इससे पहले उन्होंने आपदा प्रबंधन मंत्री यशपाल आर्य और गढ़वाल सांसद सतपाल महाराज के साथ हेलीकाप्टर से प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा भी किया।
शनिवार सुबह मौसम खराब होने के कारण एक बार प्रभावितों को लगा कि शायद प्रदेश के मुखिया उनका दुख दर्द सुनने नहीं पहुंच पाए। लेकिन, 10.30 बजे के बाद बारिश रुकी और कुहरा छंट गया। इसके बाद ठीक 11 बजे मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर की आवाज सुनाई दी, तो प्रभावितों की उम्मीदें भी बंध र्गइं। मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर जैसे ही उतरा प्रभावित उनको अपना दर्द बताने के लिए दौड़ पडे़। हालांकि इस दौरान स्थानीय नेताओं में सीएम को अपना चेहरा दिखाने की लगी होड़ में उनकी आवाज दब गई। मुख्यमंत्री बहुुगुणा और आपदा मंत्री यशपाल आर्य करीब आधा घंटे के संक्षिप्त कार्यक्रम के दौरान सीधे राहत शिविर में पहुंचे और कमरों में जाकर महिलाओं को दिलासा दिलाते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरा प्रशासनिक अमला उनके साथ है। मुख्यमंत्री ने सभी प्रभावितों के खेत खलिहान, मवेशियों और भवनों का मुआवजा देने का वायदा करते हुए कहा कि सरकार हर संभव सहायता को प्रतिबद्ध है। क्षतिग्रस्त भवनों के लिए अलग से मुख्यमंत्री राहत कोष से एक-एक लाख रुपये की मदद करने और खतरे की जद में रह रहेे लोगों के विस्थापन की कार्रवाई जल्द अमल में आने का भरोसा दिलाया गया। इस दौरान घर उजड़ने के बाद राहत शिविर में रह रहे प्रभावितों ने मुख्यमंत्री से स्थायी ठौर-ठिकाने का प्रबंध करने की गुहार लगाई। बाद में बहुगुणा ने आला अधिकारियों संग बैठक कर राहत और बचाव कार्यों की जानकारी जुटाई और जरूरी एहतियात बरतने के निर्देश दिए। सीएम के जाने के बाद कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत भी आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने पहुंचे।
इनसेट
‘पैदल दौरा करते तो देख सकते मंजर’
मुख्यमंत्री की ओर से किया गया आपदा प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरान कुछ लोगों को खटका। हेलीकाप्टर के उड़ते ही उन्होंने अपनी नाराजगी का इजहार भी किया। उनका कहना था कि सीएम हवाई दौरा करने की बजाय यदि पैदल ही प्रभावित क्षेत्र में घूमते तो उनको इस विनाशकारी आपदा का अंदाजा हो जाता।

राशन के बजाय आर्थिक मदद देेने की अपील
रुद्रप्रयाग। क्षेत्रीय विधायक शैला रानी रावत ने मुख्यमंत्री से कुंड से ऊखीमठ तक मोटर मार्ग की जल्द मरम्मत, सीडीओ/एसडीएम सहित 22 अधिकारियों की नियुक्ति करने, मुख्यमंत्री राहत कोष से प्रभावितों की मदद करने करने की मांग उठाई। उन्होंने प्रभावितों की मदद के लिए आगे आ रहे लोगों से खाद्य सामग्री के बजाय आर्थिक रुप से सहयोग करने की अपील की। ताकि, प्रभावितों की जरूरत के अनुसार स्थानीय स्तर पर राहत सामग्री उपलब्ध कराई जा सके।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper