विकास के सवाल पर जवाब मांगने उमडे़ लोग

Pauri Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
कोटद्वार। क्षेत्र से जुडे़ ज्वलंत मुद्दों पर जवाब मांगने भाबर और नगर क्षेत्र के लोग पूर्व विधायक शैलेंद्र सिंह रावत की अगुवाई में सड़कों पर उमड़ पडे़। शुक्रवार के इस कार्यक्रम के लिए पूर्व तैयारियों का ही असर था, कि रैली प्रभावशाली रही। तहसील परिसर में जब रैली पहुंची, तो यह पूरी तरह लोगों से पटा दिखाई पड़ा। उत्साहित पूर्व विधायक ने सरकार और कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी पर जमकर निशाने साधे। कोटद्वार जिले से लेकर तमाम अन्य मुद्दों पर सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की गई।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, नजीबाबद रोड स्थित एक वेडिंग प्वाइंट में सुबह काफी संख्या में लोग जमा हुए। इसमें महिलाओं की अच्छी खासी संख्या शामिल थीं। यहां से शहर के मुख्य मार्गों पर रैली निकली। इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। तहसील परिसर में रैली एक सभा में तब्दील हो गई। इस मौके पर पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि चुनाव के वक्त क्षेत्रीय विधायक और कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी ने जनता से खूब वायदे किए, लेकिन आज वह सिर्फ अपने तक ही सीमित रह गए हैं। कोटद्वार की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। आज आम आदमी त्रस्त है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री यहां के अस्पताल को बेस अस्पताल बनाने की घोषणा कर रहे हैं, मगर जवाब दें, कि मेडिकल कालेज क्यों नहीं बनाया जा रहा है। कोटद्वार को जिला बनाने के वह क्यों नहीं सरकार पर दबाव बना रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार के जमाने में स्वीकृत कार्यों को जानबूझकर रोक दिया गया है। सभा के बाद रावत ने एसडीएम अनिल गर्ब्याल के मार्फत राज्यपाल को ज्ञापन भेजा। कार्यक्रम में चंद्र प्रकाश नैथानी, जगमोहन सिंह रावत, शशिधर भट्ट प्रमुख रूप से मौजूद थे।

इन मांगों पर रहा फोकस
-कोटद्वार में एनआईआरडी की स्थापना की जाए
-चिल्लरखाल-लालढांग मोटर मार्ग निर्माण जल्द हो
-खोह, मालन और सुखरौ पर जलाशय जल्द बनें
-चिकित्सालय में डायग्नोस्टिक सेंटर स्थापित हो
-हास्पिटल में चिकित्सकों की कमी को दूर करें
-विद्युत कटौती बंद हो, पेयजल किल्लत दूर हो
-पुलिंडा गांव को अविलंब विस्थापित किया जाए


किसी को चौंकाया, किसी को आईना दिखाया
कोटद्वार। भाजपा से हटाए जाने के बाद शैलेंद्र सिंह रावत लगातार शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं, मगर शुक्रवार को इस क्रम में वह बेहद आगे निकल गए। भाजपा से हटने के बाद पब्लिक की समस्याओं को लेकर आज तक उनकी अगुवाई में जितने विरोध प्रदर्शन हुए, उनमें सबसे ज्यादा भीड़ आज जुटी। रावत ने इस शक्ति प्रदर्शन से कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी के समर्थकों को चौंका दिया, तो भाजपा को आईना दिखाने का काम किया। भाजपा की दो दिन पहले निकली रैली में इसके मुकाबले काफी कम लोग शामिल हुए थे। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि ऐसे समय जबकि रावत की भाजपा में वापसी की अटकलें लग रही हैं, तब जानबूझकर शक्ति प्रदर्शन किया गया है।

पुलिस रही अतिरिक्त चौकस
कहते है दूध का जला छाछ को भी फूंक फूंक कर पीता है। कोटद्वार पुलिस की शुक्रवार को ऐसी ही हालत दिखाई दी। तीन दिन पहले भाजपा की रैली के दौरान ही मामूली बात पर झगड़ा शुरू हुआ था। देखते-देखते दो दिन तक उसने शहर की शांति भंग रखी। इससे सबक लेते हुए प्रशासन ने इस रैली के सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए हुए थे। पूरे कार्यक्रम के दौरान पुलिस अतिरिक्त तौर पर सावधान दिखाई दी।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper