592 के पार पहुंचा झील का जलस्तर

Pauri Updated Mon, 06 Aug 2012 12:00 PM IST
श्रीनगर। अलकनंदा नदी पर बनी झील का जलस्तर रविवार की रात एक बार फिर 592 मीटर के पार पहुंच गया। दोपहर बाद झील का जलस्तर थोड़ा कम हुआ और जलस्तर 588 मीटर से अधिक बना रहा। इस कारण ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के ऊपर भी पानी बहता रहा और यात्रियों को जीवीके की ओर से बनाए गए मार्ग से होकर निकलना पड़ा। संपर्क मार्ग पर मलबा होने और मार्ग वन वे होने के कारण यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
तीसरा दरवाजा खुलने में लगेंगे तीन दिन
श्रीनगर। अलकनंदा में बैराज क्षेत्र पर तीसरा दरवाजा खोलने में जीवीके कंपनी को और तीन दिन लग जाएंगे। उपजिलाधिकारी रजा अब्बास ने बताया कि बैराज के तीसरे गेट के लिए हाइड्रोलिक सिस्टेम लगाया जाएगा।
शासन के निर्देश पर होगी कार्रवाई
श्रीनगर। पौड़ी के जिलाधिकारी चंद्रेश कुमार यादव ने कहा कि शासन के निर्देश पर ही जीवीके कंपनी के खिलाफ कोई कार्रवाई का निर्णय लिया जाएगा। 26 जुलाई को स्वयं धारी देवी क्षेत्र का निरीक्षण कर लौटे डीएम ने किसी भी दशा में धारी पुल को क्षति न पहुंचाए जाने तथा झील क्षेत्र में जलस्तर किसी भी दशा में 585 मीटर से अधिक न होने देने के सख्त निर्देश दिए थे। इसके बावजूद शनिवार की देर रात को आई प्रलयकारी बारिश के बाद झील क्षेत्र में 594 मीटर को जलस्तर पार कर गई।
जीवीके के खिलाफ दर्ज हो एफआईआर
श्रीनगर। धारी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना बाधित होने पर धारी मां के भक्तों में निराशा है। धारी बचाओ संगठन ने इस मामले में प्रशासन से जीवीके के खिलाफ शीघ्र एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग की है। वर्षों से हजारों लोगों की आस्था का केंद्र धारी देवी मंदिर तक झील बन जाना तथा पूजा-अर्चना और भक्तों की आवाजाही बाधित होने पर श्रद्धालु नाराज हैं। स्थानीय निवासी रमेश चंद्र ममगाईं ने कहा कि मेरे पिता के दादाजी भी धारी मंदिर में पूजा के लिए जाते रहे हैं। इतने पुराने मंदिर की पूजा-अर्चना जीवीके की कारगुजारी के कारण बाधित हुई है। समाज सेवी विपिन मैठाणी का कहना है कि प्रशासन को सख्त कदम उठाते हुए जीवीके कंपनी के खिलाफ एफआईआर कर देनी चाहिए। वर्ष 2010 में आई बाढ़ के बावजूद धारी झूला पुल तक पानी नहीं आया, लेकिन आज कंपनी के बांध निर्माण के कारण झूला पुल ही टूट गया।

789वें दिनों से बैठे हैं धरने पर
श्रीनगर। धारी देवी मंदिर के अस्तित्व को बचाए रखने की लड़ाई लड़ रहे धारी देवी बचाओ संगठन के लोग 789वें दिन भी धरने पर बैठे। इस मौके पर आंदोलनकारियों ने धारी देवी मंदिर में भक्तों की आवाजाही रुकने पर खेद जताते हुए कंपनी पर प्रशासन से कार्रवाई की मांग की। धरने पर बैठने वालों में सुमन नौटियाल, सरोज पंवार, गुड्डी गैरोला, विश्वेश्वरी कोठियाल, सुधा गैरोला, राजेश्वरी तिवारी, सीता गैरोला, राजेश्वरी जोशी, राम प्रसाद, बुद्धिबल्लभ चमोली और अमित जोशी आदि शामिल थे।
श्रीनगर और श्रीकोट में हाईअलर्ट घोषित
श्रीनगर। मौसम विभाग की ओर से अगले 48 घंटोें में अतिवृष्टि की चेतावनी देने के साथ ही स्थानीय प्रशासन ने श्रीनगर तथा श्रीकोट क्षेत्र में हाईअलर्ट घोषित कर दिया है। भारी बारिश की आशंका के चलते अलकनंदा किनारे स्थित आवासों के निवासियों को प्रशासन की ओर से बनाए राहत शिविरों में प्रवास की अपील की गई।
एसडीएम रजा अब्बास ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि अलकनंदा किनारे रहने वाले निवासियों को राहत शिविरों में पहुंचने का निवेदन किया गया है। श्रीनगर में राजकीय बालिका इंटर कालेज, राजकीय इंटर कालेज तथा श्रीकोट गंगानाली मेें होमगार्ड्स प्रशिक्षण केंद्र और पंचायत घर को राहत शिविर बनाया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा में तहसील आपदा कंट्रोल रूम के 01346-251178 पर सूचित किया जाए।

धारी देवी में नौ जल पुलिस कर्मी तैनात
श्रीनगर। धारी देवी मंदिर क्षेत्र के समीप राफ्ट तथा अन्य आपदा संबंधी सामग्री के साथ जल पुलिस के नौ कर्मी तैनात हैं। कोतवाल अनिल कुमार जोशी ने बताया कि क्षेत्र में अतिवृष्टि तथा झील बनने के कारण किसी को कोई नुकसान न हो, इसके लिए पुलिस तैनात की गई है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर जहां हाईवे झील में डूबा है, वहां पर तैयार संपर्क मार्ग से यात्रियों को आवाजाही में दिक्कतें हो रही हैं। इसलिए संपर्क मार्ग के दोनों ओर पांच-पांच पुलिसकर्मी लगाए गए हैं। श्रीनगर तथा श्रीकोट क्षेत्र में स्थिति संभालने के लिए अलग से पांच जल पुलिस कर्मी तैनात हैं।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper