विज्ञापन

हड़ताल पर रहे वकील, धरना दिया

ब्यूरो/अमर उजाला,हल्द्वानी Updated Wed, 13 Feb 2019 02:05 AM IST
जजी कोर्ट परिसर में धरना प्रदर्शन करते अधिवक्ता
जजी कोर्ट परिसर में धरना प्रदर्शन करते अधिवक्ता - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
10 सूत्री मांगों को लेकर बार काउंसिल ऑफ  इंडिया के आह्वान पर सिविल कोर्ट हल्द्वानी में टैक्स बार एसोसिएशन हल्द्वानी और हल्द्वानी बार एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से धरना प्रदर्शन किया। वकीलों ने बार काउंसिल ऑफ  उत्तराखंड के सदस्य मेहरबान सिंह कोरंगा को ज्ञापन भी सौंपा।
विज्ञापन
विज्ञापन
धरना-प्रदर्शन में बार एसोसिएशन अध्यक्ष गोविंद सिंह बिष्ट, सचिव राजन सिंह मेहरा, उपाध्यक्ष चंद्रशेखर जोशी, कोषाध्यक्ष कैलाश गोस्वामी, लेखा अधिकारी अतुल पंत, विनय जोशी, तनुजा तिवारी, नीरज खेतवाल भावना तिवारी, बशीरत जहां, सुनीता भाकुनी, पूजा पाल, प्रियंका, ज्योति किरण, ज्योति सिंह और इनकम टैक्स बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएस रौतेला ईश्वर पांगती, डीके चंदोला, सुमित गुप्ता, संजय पांडे, अब्दुल कलाम, सुशील तिवारी, हृदयेश गुप्ता, सूरज नेगी,  संजीव कपूर, दिनेश पांडे, संजय जोशी, हिमांशु, एनके जोशी, जगदीश दुम्का, सतीश आदि थे। हाईकोर्ट के दया सागर बिष्ट ने भी मांगों का समर्थन किया है।

ये हैं मांगें
न्यायालय परिसर में अधिवक्ता संघ भवन, वकीलों के बैठने की व्यवस्था करने, ई लाइब्रेरी, शौचालय और कैंटीन की व्यवस्था करने, जरूरतमंद वकीलों को दस हजार रुपये प्रतिमाह (पांच वर्षों तक) देने, अधिवक्ता की असामयिक मौत होने पर परिजनों को कम से कम 50 लाख रुपये की व्यवस्था बीमा के तहत करने, अक्षम और वृद्ध वकीलों को पारिवारिक पेंशन देने, लोक अदालतों का कार्य अधिवक्ताओं के जिम्मे करने, वकीलों को उचित मूल्य पर भूखंड देने और  सभी टिब्यूनल, कमीशन में वकीलों की बहाली।

नैनीताल में भी हड़ताल, कलक्ट्रेट पर दिया धरना
नैनीताल। जिला कोर्ट के अधिवक्ता भी मांगों को लेकर मंगलवार को हड़ताल पर रहे। उन्होंने कलक्ट्रेट पर धरना भी दिया। इस दौरान बार अध्यक्ष ओमकार गोस्वामी, सचिव अरुण बिष्ट, कनिष्ठ उपाध्यक्ष संजय सुयाल, संयुक्त सचिव प्रमोद तिवारी, शशांक कुमार, कोषाध्यक्ष हितेश पाठक, बहादुर पाल, दया किशन पोखरिया आदि थे। वहीं, अधिवक्ताओं की हड़ताल को समर्थन देने के लिए मंगलवार को रामनगर टैक्स बार के पदाधिकारी भी नैनीताल पहुंचे। इस दौरान टैक्स बार के अध्यक्ष पूरन चंद्र पांडे, संजीव अग्रवाल, फैजुल हक, फिरोज अंसारी, शोभित अग्रवाल मौजूद थे।

बार काउंसलिंग की मांगों को निरस्त करने की निंदा
रामनगर (नैनीताल)। बार एसोसिएशन ने मंगलवार को एसडीएम के माध्यम से अपनी मांगों से जुड़ा ज्ञापन सरकार को भेजा। बार के अध्यक्ष आनंद सिंह बिष्ट की अध्यक्षता और प्रदीप अग्रवाल के संचालन मेें आयोजित सभा के दौरान वक्ताओं ने बार काउंसलिंग की मांगों को भारत सरकार की ओर से निरस्त करने की निंदा की। इस मौके पर बालम सिंह बिष्ट, जगदीश मासीवाल, गणेश कुमार गगन, रतन सिंह चौहान, सुरेश चंद्र नैनवाल, ललित तिवारी, निसारुद्दीन, एलएम पांडे, संतोष देवरानी आदि मौजूद रहे। ब्यूरो

हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने भी प्रदर्शन किया
नैनीताल। हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने बार एसोसिएशन सभा हाल में बैठक की, इसके बाद उन्होंने धरना-प्रदर्शन किया और मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ललित बेलवाल की अध्यक्षता में हुई सभा में पूर्व सांसद डॉ.महेंद्र पाल, पुष्पा जोशी, डीके शर्मा, सैय्यद नदीम मून, जेसी कर्नाटक, भुवनेश जोशी, चंद्रशेखर जोशी, गौरा देवी आदि ने विचार रखे। संचालन बार एसोसिएशन के उपसचिव विरेंद्र रावत ने किया। ब्यूरो

Recommended

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा
ज्योतिष समाधान

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Nainital

एनसीसी कैडेटों ने कुमाऊंनी लोक नृत्य से मचाई धूम

एमबीपीजी कॉलेज में बुधवार को आयोजित एनसीसी सम्मान समारोह में छात्र-छात्राओं ने कुमाऊंनी लोक संस्कृति पर आधारित रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

21 फरवरी 2019

विज्ञापन

देहरादून में कश्मीरी छात्रों से मिले पीडीपी नेता, सुरक्षा को लेकर दिया ये बयान

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद पूरे देश में गुस्से का माहौल है। इस माहौल के बीच सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट वायरल हुए जिनमें भारत के अन्य हिस्सों में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों को परेशान करने के दावे किए गए।

19 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree