लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Nainital News ›   Hadakhan road can open after debris is removed

Nainital News: मलबा हटने पर खुल सकता है हैड़ाखान मार्ग

Haldwani Bureau हल्द्वानी ब्यूरो
Updated Sun, 27 Nov 2022 07:30 AM IST
हल्द्वानी काठगोदाम हैड़ाखान रोड में धंसी सड़क का निरीक्षण करते बीआरओ के अधिकारियों के साथ निरीक
हल्द्वानी काठगोदाम हैड़ाखान रोड में धंसी सड़क का निरीक्षण करते बीआरओ के अधिकारियों के साथ निरीक
विज्ञापन
हल्द्वानी। काठगोदाम-हैड़ाखान-साननी-सिमलिया मोटरमार्ग का शनिवार को डीएम के साथ बीआरओ और लोनिवि के अधिकारियों ने निरीक्षण किया। बीआरओ के मुख्य अभियंता विमल गोस्वामी ने कहा कि यहां से सड़क खुल सकती है। उन्होंने लोनिवि को तब तक मलबा हटाने के निर्देश दिए जब तक कि ऊपर से मलबा गिरना न रुक जाए। इसके बाद नीचे से सुरक्षा दीवार बनाने के लिए कहा है। उधर बीआरओ के संयुक्त निदेशक अरुण कुमार ने सड़क की निगरानी के लिए एक इंजीनियर देने का भी आश्वासन दिया है।

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री अजय भट्ट के निर्देशों के क्रम में शनिवार को बीआरओ के अधिकारी हल्द्वानी पहुंचे। इसके बाद डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने मुख्य अभियंता बीआरओ विमल गोस्वामी और मुख्य अभियंता लोनिवि दीपक के साथ क्षतिग्रस्त सड़क का निरीक्षण किया। बीआरओ के मुख्य अभियंता विमल गोस्वामी ने कहा कि सड़क से मलबा हटाया जा सकता है। उन्होंने इसके लिए एक तकनीकी विशेषज्ञ भेजने की बात कही है। मलबा आना बंद होने के बाद सड़क के नीचे से सुरक्षा दीवार बनाई जाए। इस दौरान सीडीओ डॉ. संदीप तिवारी, बीआरओ के संयुक्त निदेशक अरुण कुमार, एडीएम अशोक जोशी, ईई लोनिवि दीपक गुप्ता आदि मौजूद रहे।

टीएचडीसी के इंजीनियर भी करेंगे निरीक्षण
हल्द्वानी। टिहरी हाइड्रो डेवलपमेंट कारपोरेशन के इंजीनियर सड़क और पहाड़ी का निरीक्षण करेंगे। पीडब्लूडी के एई मनोज पांडे ने बताया कि टीएचडीसी के अधिकारी सोमवार को इस सड़क का निरीक्षण करने आ सकते हैं।
2.2 किलोमीटर नई सड़क भी बनाई जाएगी
- वन, राजस्व और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने किया सर्वे
- करीब 150 पेड़ आ रहे नई सड़क की जद में
माई सिटी रिपोर्टर
हल्द्वानी। राजस्व विभाग, वन विभाग और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने शनिवार सुबह हैड़ाखान रोड पर नए मार्ग के लिए सर्वे किया। लोक निर्माण विभाग के एई मनोज पांडे ने बताया कि सर्वे का काम पूरा हो गया है। इसकी जद में साल के करीब 150 पेड़ आ रहे हैं। पूरी रिपोर्ट अभी वन विभाग से नहीं मिली है।
उधर जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल ने बताया कि लोक निर्माण विभाग से बंद पड़ी सड़क का मलबा हटाने के लिए कहा गया है। साथ ही नए मार्ग के लिए सर्वे का काम हो गया है। जल्द ही नए मार्ग बनाने के लिए वन भूमि हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। कहा कि यह सड़क करीब 2.2 किलोमीटर है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00