बाप ही निकला बेटे और महिला का हत्यारा

Nainital Updated Sat, 25 Jan 2014 05:54 AM IST
लालकुआं। करीब चार माह पूर्व बोरे में बंद मिली 10 वर्षीय बच्चे की सिर कटी लाश और बरेली में गला रेतकर हुई महिला की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में बच्चे के जैविक पिता को गिरफ्तार किया गया है। वारदात की वजह ‘पति, पत्नी और वो’ है। आरोपी ने बड़े शातिर ढंग से मां-बेटे को बरेली ले जाने के बहाने नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश करने के बाद वारदात को अंजाम दिया। महिला की हत्या करने के बाद आरोपी ने उसके चेहरे को तेजाब से जलाया और शीशगढ़ में गन्ने के खेत में फेंक दिया। वहीं हल्द्वानी आकर बेटे का सिर कलम करने के बाद पत्नी और रिश्ते की साली के साथ मिलकर धड़ और सिर अलग-अलग बोरे में डालकर हल्द्वानी की एक नहर में फेंक दिए। आरोपी युवक, उसकी पहली पत्नी और रिश्ते की साली को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों हत्याओं के मामलों में किसी भी थाने या कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज न होना और एक ही परिवार से जुड़ी घटना से पुलिस को आरोपी पर शक हो गया था।
शुक्रवार को कोतवाली में प्रेस कांफ्रेंस कर एसएसपी डा. सदानंद दाते ने मामले का खुलासा कर बताया कि बीते वर्ष 19 सितंबर को शहर की गंगापुर नहर की पुलिया के पास 10 वर्षीय एक बच्चे की सिर कटी लाश मिलने से सनसनी फैल गई थी। तमाम कोशिशों के बावजूद शिनाख्त नहीं होने और कोई क्लू नहीं मिलने पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की। धीरे-धीरे जांच बढ़ी और बरेली तक सुराग की तलाश की गई। इसी दौरान पुलिस को पता चला कि बरेली के शीशगढ़ थाना क्षेत्र में गन्ने के खेत में एक महिला की सिर कटी लाश मिली है। दोनों लाशों के संबंध में किसी भी थाना क्षेत्र में गुमशुदगी दर्ज नहीं होने पर पुलिस का शक मजबूत हो गया कि मामला एक ही परिवार का है। सर्विलांस की मदद के बाद पुलिस ने सभी पहलुओं पर जांच-पड़ताल के बाद शुक्रवार को बरेली के गंगापुर थाना क्षेत्र भोजीपुरा निवासी लालता प्रसाद उर्फ ललित पुत्र अनोखेलाल को हिरासत में लिया, जो कि हल्द्वानी के जवाहर नगर में किराए के मकान में रह रहा था। पूछताछ में ललित ने बताया कि बरेली के भोजीपुरा कंचनपुर की रहने वाली अनारौ देवी से उसके अवैध संबंध थे, जिससे उसका एक बेटा पुष्कर उर्फ सनी भी था। दोनों को ललित ने हल्द्वानी स्थित एक किराए के मकान में रखा था। ललित के मुताबिक कुछ समय बाद अनारौ ने उसके वैवाहिक जीवन में खलल डालना और ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। इस पर ललित ने दोनों को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया और 16 सितंबर को अनारौ देवी और बेटे को बरेली ले जाने के लिए तैयार किया। रास्ते में ललित ने पूर्व नियोजित घटनाक्रम के तहत अपनी रिश्ते की साली शीला को भी अपनी सेंट्रो कार में बैठा लिया। ललित ने सनी और अनारौ देवी दोनों को फ्रूटी में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया। बेहोश हो जाने पर शीषगढ़ क्षेत्र में ले जाकर ललित ने अनारौ देवी की चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी। साक्ष्य मिटाने के लिए उसके चेहरे पर तेजाब डाल कर जला दिया। दोनों ने मिलकर शव को बोरे में भरकर गन्ने के खेत में फेंक दिया। इसके बाद ललित और शीला बेहोश सनी को लेकर हल्द्वानी स्थित किराए के मकान में पहुंचे। यहां ललित ने अपनी पत्नी सोमवती और शीला के साथ मिलकर सनी की गर्दन काटकर सिर और धड़ को अलग-अलग बोरे में भरकर मुखानी के पास बरसाती नहर में डाल दिया। खुलासे के बाद पुलिस ने लालता प्रसाद उसकी पत्नी सोमवती और रिश्ते की साली देवरनीया निवासी शीला को गिरफ्तार कर लिया है।
इनसेट
ललित के घर से मिली सनी की टी-शर्ट
लालकुआं। जांच कर रही पुलिस टीम को हल्द्वानी स्थित किराए के मकान में मृतक सनी की पहनी हुई एगंरी बर्ड कंपनी की टी-शर्ट मिली है, जिसकी शनाख्त मृतक अनारौ के परिजनों ने की है। सनी हल्द्वानी स्थित बियरशीबा स्कूल का छात्र था। अनारौ बेटे सनी के साथ हल्द्वानी के जवाहर नगर में ही रहती थी। अनारौ और सनी के गायब हो जाने से आसपास के लोगों ने अनहोनी की आशंका जताई भी थी। लेकिन किसी ने इससे आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं उठाई। इधर, एसएसपी दाते के मुताबिक मृतक सनी का डीएनए सैंपल भी लिया गया है। पुलिस जल्द हत्यारे का रिमांड लेकर उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त हथियार, अनारौ के जेवर और सामान बरामद करने का प्रयास करेगी।
प्रॉपर्टी डीलिंग करता है ललित
लालकुआं। लालता प्रसाद उर्फ ललित भोजीपुरा और बरेली क्षेत्र में मामूली प्रॉपर्टी खरीद फरोख्त का काम करता था। उसके पास एक सेंट्रो कार थी, जिससे वह हल्द्वानी में आनारौ और बेटे सनी से मिलने आए दिन आता रहता था। लालता ने पुलिस को बताया की रिश्ते की साली शीला भोजीपुरा स्थित आएमएल अस्पताल में नर्स है। जिसे लालता प्रसाद ने मकान का लालच देकर हत्या की साजिश में शामिल किया था।
टीम में यह रहे शामिल
लालकुआं। एसएसपी डा. सदानंद दाते के निर्देशन पर एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव और सीओ प्रमोद कुमार के नेतृत्व मेें मामले का खुलासा करने वालों में एसएसआई चंद्रमोहन सिंह, एसओजी प्रभारी रविंद्र कुमार, होमीसाइट सेल के एसआई उमेद दानू, एसआई राजेंद्र बिष्ट, त्रिलोक राम, विनोद घई, त्रिभुवन सिंह, मलखान सिंह, ललित श्रीवास्तव, नासिर हुसैन, जितेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह विरेंद्र चौहान, हरपाल, महेंद्र सिंह शामिल रहे।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper