चौपाल में प्रमुखता से उठा आपदा की भरपाई का मुद्दा

Nainital Updated Sun, 24 Nov 2013 05:46 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
भीमताल। चांफी ग्रामसभा के तोक पांडेछोड़ में अमर उजाला की ओर से आयोजित चौपाल में शनिवार को ग्रामीणों ने मूलभूत समस्याओं को प्रमुखता से उठाया। आपदा की भरपाई न होने पर व्यवस्था के खिलाफ गुस्सा भी दिखाई दिया। विभागीय अधिकारियों ने कई समस्याओं का मौके पर ही समाधान कराया। चौपाल के सह प्रायोजक कृष्णा हास्पिटल एंड रिसर्च सेंटर रहे।
विज्ञापन

प्राथमिक विद्यालय परिसर में चौपाल का शुभारंभ मुख्य अतिथि डीआरडीए के परियोजना निदेशक हरगोविंद भट्ट ने दीप जलाकर किया। राइंका चांफी की छात्राओं ने सरस्वती वंदना और स्वागत गीत की प्रस्तुति दी। सेवानिवृत्त शिक्षक सदीराम ने कलसा नदी से होने वाले भूकटाव को रोकने, नहरों का लीकेज सुधारने की मांग उठाई। सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता हेम चंद्र जोशी ने भूकटाव रोकने के लिए विभागीय स्तर से की जा रही कोशिशों के बारे में बताया। गिरीश चंद्र ने बरसाती नाले से गांव के 25 परिवारों को पैदा हो रहे खतरे के बारे में बताया। सामाजिक कार्यकर्ता ललित मोहन उप्रेती ने क्षतिग्रस्त गूलों को ठीक, सिंचाई पंप चलाने के लिए अतिरिक्त केरोसिन देने की मांग की। पूर्ति अधिकारी एलएम जोशी ने कहा कि वह कैरोसिन का कोटा बढ़ाने के लिए विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखेंगे।
काश्तकार जीवन नाथ गोस्वामी ने कलसा नदी की बाढ़ से बचाव की मांग की तो निर्वतमान ग्राम प्रधान हरीश चंद्र पांडे ने पिछले साल नदी से हुए नुकसान के बारे में बताया। सामाजिक कार्यकर्ता रमेश चौनाल ने खुटानी-चांफी रोड में सुधार करने की मांग रखी। सहायक समाज कल्याण अधिकारी असलम अली, स्वजल परियोजना की सामुदायिक विकास विशेषज्ञ लक्ष्मी कुमारी, जल संस्थान के अवर अभियंता एलएम पांडे, वीडीओ केएस सामंत ने तमाम योजनाओं के बारे में बताया।
इस दौरान तहसीलदार बीएस लटवाल, सामाजिक कार्यकर्ता वीरेंद्र सिंह बिष्ट, खंड विकास अधिकारी तारा हयांकी, बाल विकास परियोजना अधिकारी कमला कोरंगा, राइंका चांफी के प्रधानाचार्य केसी कांडपाल, पशु चिकित्साधिकारी डा. गरिमा बिष्ट, सुपरवाइजर दया बेलवाल, स्वजल के तकनीकी सलाहकार नंद किशोर कांडपाल, जल संस्थान के अवर अभियंता आरपी डोभाल, उपखंड अधिकारी विद्युत संजय प्रसाद, सिंचाई विभाग के प्रशांत पंत, विकास खंड प्रभारी कृषि हर्षवर्धन कुमार समेत अमर उजाला अभिकर्ता गिरीश चंद्र, सामाजिक कार्यकर्ता खीम राम, युवा क्लब के गणेश लाल, भगवती मंदिर समिति अध्यक्ष अनिल कुमार, चंद्र प्रकाश, बची राम, महेंद्र सिंह परिहार आदि मौजूद थे। संचालन गिरीश चंद्र ने किया।
------------
बाढ़ नियंत्रण को ठोस योजनाएं बनाएं: भट्ट
भीमताल। मुख्य अतिथि डीआरडीए परियोजना निदेशक हरगोविंद भट्ट ने सिंचाई विभाग और खंड विकास अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि कलसा से होने वाले भू कटाव को रोकने के लिए ठोस योजना बनाएं। इसके लिए विभागों का आपस में समन्वय जरूरी है। उन्होंने कहा कि जो समस्याएं चौपाल में हल नहीं हो सकी हैं उन्हें विभागीय स्तर पर हल कराया जाएगा।
---------
प्रमाणपत्र बनाए
-चांफी में आयोजित चौपाल में राजस्व विभाग ने प्रमाणपत्र बनाने के लिए शिविर लगाया। मौके पर कई ग्रामीणों के आय प्रमाणपत्र बनाए गए।
-काठगोदाम की सामाजिक संस्था पहल ने भी चौपाल में भागीदारी की। पहल के देवेंद्र चंद्र ने ग्रामीण काश्तकारों को मैथी लगाओ-मैथी सुखाओ-आमदानी बढ़ाओ योजना के बारे में जानकारी दी।
-चांफी, पांडेछोड़ और आसपास के ग्रामीणों ने पांडेछोड़ में स्थित कई गांवों के इकलौते शमशान घाट की दशा में सुधार की भी मांग को भी प्रमुखता से उठाया।
-काश्तकारों ने जंगली जानवरों के बढ़ते आतंक और खासकर गांव से बंदरों को दूर भगाने की मांग उठाई।
--------
भीमताल। चौपाल में आए अधिकारियों से लेकर गांव के आम लोगों ने अमर उजाला की ओर से ग्रामीणों की समस्याओं को हल कराने के लिए चौपाल जैसे आयोजन करने के प्रयासों की सराहना की और उम्मीद जताई कि भविष्य में भी अमर उजाला इस तरह के प्रयास जारी रखेगा।
फोटो
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us