'My Result Plus
'My Result Plus

एडीआर सेंटर बनने से वादकारियों को मिलेगा लाभ

Nainital Updated Thu, 27 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
नैनीताल। उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में हाईकोर्ट परिसर में हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बारिन घोष ने एडीआर (एल्टरनेटिव डिस्प्यूट रेज्यूलेशन) के सेंटर का शिलान्यास किया।
न्यायाधीश घोष ने कहा कि एडीआर के बनने से न्यायालय में मुकदमों की संख्या कम होगी और वादकारियों का खर्चा भी कम होगा। उन्होंने कहा कि मीडिएशन, आरबीट्रेशन और कॉनसिलिएशन (सुलह समझौते) के आधार पर निर्णय के लिए मुकदमों को एडीआर में दोनों पक्षों की सहमति से भेजा जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक बार और बेंच का तालमेल नहीं होगा, एडीआर की स्थापना निरर्थक है।
न्यायमूर्ति कल्याण ज्योति सेनगुप्ता ने कहा कि इसकी स्थापना से वादकारियों को काफी फायदा होगा। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष डीके शर्मा ने सभी का धन्यवाद अदा करते हुये कहा कि न्यायमूर्ति सेनगुप्ता राज्य विधिक प्राधिकरण के चेयरमैन है और उन्होंने हल्द्वानी में न्याय से संबंधित लोगों को जागरूक करने के लिये नौ नवंबर को एक कैंप लगाया था, जिसमें उन्होंने लोगों को कानून से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी। कार्यक्रम में न्यायमूर्ति पीसी पंत, न्यायमूर्ति बीएस वर्मा, न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया, न्यायमूर्ति यूसी ध्यानी, डीआईजी दीपक ज्योति घिल्डियाल, डीएम निधिमणि त्रिपाठी, एसएसपी सदानंद दाते, रजिस्ट्रार जनरल राम सिंह, कुंवर अमनिंदर सिंह, नरेंद्र दत्त, अनुज कुमार संगल, अधिवक्ता अवतार सिंह रावत, एएस गिल, हरेंद्र बेलवाल, विनोद तिवारी, ललित शर्मा, केएस बोरा, गंगा सिंह नेगी, दर्शन सिंह बिष्ट, प्रेम सिंह दानू, दिनेश गहतोड़ी आदि थे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

बलात्कार की घटनाओं पर बोले पीएम मोदी- राक्षसों को फांसी पर लटकाएंगे

मध्यप्रदेश के मंडला जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलात्कार की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जताते हुए कहा कि जो भी राक्षसी काम करेगा उसे फांसी पर लटकाया जायेगा।

24 अप्रैल 2018

Related Videos

आखिर क्या है ये? गुलदार या जंगली बिल्ली?

ज्योलीकोट में लोगों के बीच एक जानवर कौतूहल का विषय बन गया। सुबह के वक्त संत एंथोनी इंटर कालेज और बेलुवाखान सीसी मार्ग से लगी पहाड़ी रास्ते पर एक जानवर दिखाई दिया। स्थानीय लोगों ने इसे गुलदार की प्रजाति का कहा।

28 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen