डेरी और आटा चक्की से शुरू किया था कारोबार

Nainital Updated Sun, 18 Nov 2012 12:00 PM IST
रामनगर। शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा ने दूध की छोटी सी डेरी और आटा चक्की से व्यवसाय में कदम रखा था। वर्ष 1947 में भारत-पाक विभाजन के दौरान पोंटी चड्ढा के पिता कुलवंत सिंह चड्ढा के परिजन यहां पीरूमदारा के कठियापुल गांव आकर बसे थे। उन्होंने गांव में पहले दूध की छोटी सी डेरी और आटा चक्की लगाई। उसके बाद यहां पुरानी तहसील के सामने रहते हुए कोतवाली के पास शराब का कारोबार शुरू किया था। पोंटी के पिता कुलवंत सिंह के साथ उनके चाचा सुरजीत सिंह, सुखजीत सिंह उर्फ कुक्कु ने कठियापुल पीरूमदारा में गुरुनानक केन क्रेशर के नाम से कोल्हू स्थापित किया। वर्ष 1978 से वर्ष 1984 तक खुद पोंटी चड्ढा ने इसे संभाला। इसके बाद वह मुरादाबाद चले गए। इस बीच वन विभाग के लीज प्लाट, बागेश्वर जिले में खड़िया खनन समेत दाबका, गौला नदियाें में उपखनिज के चुगान से भी इस ग्रुप ने खासी कमाई की।
पीरूमदारा में उनका फार्म हाउस संभाल रहे कुलदीप सिंह पहलवान ने बताया कि पोंटी के दादा गुरवचन सिंह धार्मिक प्रवृत्ति के थे। उनके पुत्र कुलवंत सिंह का विवाह भवानीगंज (रामनगर) निवासी प्रकाश कौर से हुआ था। पोंटी 1989 से पीरूमदारा में बने पूजाघर में मत्था टेकने आते थे। वहां स्थापित क्रेशर और चक्की बंद है लेकिन जर्जर धर्मकांटा, गोदाम, भवन पुराने कारोबार की गवाही देते हैं। उनके सात मामा रामनगर में ही रहते थे। चड्ढा परिवार के पारिवारिक ड्राइवर रहे ग्राम मोतीपुर बैलजुड़ी निवासी रामचंद्र सिंह पाल (62) बड़े दुखी मन से बताया कि वह वर्ष 1985 तक चड्ढा फार्म में ड्राइवर रहा। उसी ने पोंटी को कार ड्राइविंग सिखाई थी।
--------------------------
थाने के बगल में ही बेची अवैध शराब
रामनगर। शुरूआती दिनों में पोंटी चड्ढा के पिता कुलवंत सिंह ने बेखौफ अवैध शराब का धंधा किया। रामनगर थाने के बगल में ही कच्ची शराब उन्होंने बेची थी। नगरवासियों के विरोध के बाद तत्कालीन थाना प्रभारी ने उन्हें धंधा बंद करने की चेतावनी दी लेकिन कुलवंत सिंह पर इसका असर नहीं हुआ। इससे पहले वर्ष 1955 में कुलवंत ने अपनी ससुराल वालों की जमीन में ही शराब का कारोबार शुरू कर दिया था। एक बार उनके पारिवारिक सदस्यों ने पुलिस के आने से पहले ही मटके फोड़कर शराब नष्ट कर दी थी। ब्यूरो
----------------------------------
पीरूमदारा शोक में डूबा
रामनगर/हल्द्वानी। दिल्ली फार्म हाउस में शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा और उनके भाई हरदीप सिंह की खबर मिलते ही यहां पीरूमदारा में शोक की लहर दौड़ गई। भवानीगंज में लोगों ने शोक सभा कर दोनों भाइयों की मौत पर शोक जताया। सभा में हरविंदर सिंह टीटू, पिंटू आनंद, मनिंदर सिंह सेठी, गुरविंदर सिंह सेठी, सुनील कुमार पप्पी, नमित अग्रवाल, राजेंद्र रावत आदि मौजूद थे। हल्द्वानी में व्यापारी नेता राजीव जायसवाल और अन्य शराब कारोबारियों ने पोंटी और हरदीप की मौत पर दु:ख प्रकट किया है। इधर, उत्तराखंड में चड्ढा ग्रुप के शराब कारोबार के पार्टनर विजयंत जायसवाल ने कहा कि पोंटी और हरदीप की मौत से चड्ढा ग्रुप को बड़ा झटका लगा है। अब उनके परिवार के लोग इस कारोबार को आगे बढ़ाएंगे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

21 साल का साहिल बना पीजीआई थाने का एसओ, टोपी न पहने सिपाहियों की लगाई क्लास

राजधानी के पीजीआई थाने का नजारा शुक्रवार को दो घंटे के लिए बदल गया। शिकायत लिए आए लोग सामने बैठे 21 साल के एसओ को देखकर कुछ देर के लिए ठिठक गए।

19 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper