सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खूनी संघर्ष

Nainital Updated Sat, 03 Nov 2012 12:00 PM IST
रामनगर। सरकारी भूमि हथियाने को अब खूनी संघर्ष भी होने लगा है। शुक्रवार को ढेला बैराज फार्म मालधनचौड़ में सिंचाई विभाग की भूमि पर कब्जे को लेकर कब्जेदारों में मारपीट और पथराव के बाद सरिया भी निकल आई। सरिया और डंडों से ताबड़तोड़ प्रहार में कई ग्रामीण लहूलुहान हो गए। दोनों पक्षों के करीब बारह लोग घायल हुए हैं, इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ तहरीर पुलिस को दी है।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मालधनचौड़ में ढेला बैराज फार्म क्षेत्र की भूमि सिंचाई विभाग के स्वामित्व में है। वर्षों से काबिज लोगों ने इस भूमि की खरीद-फरोख्त शुरू कर दी है। स्टांप पर ही जमीन का सौदा हो रहा है। रामपुर के ग्राम मिर्जापुर निवासी लोकमन की पत्नी शकुंतला ने जगदीश नामक व्यक्ति से छह बीघा जमीन स्टांप पर खरीदी थी, लेकिन जगदीश ने पांच बीघा भूमि पर ही उसे कब्जा दिया। शकुंतला ने यह जमीन कुंभगडार वनग्राम के किशनपाल को बेच दी, लेकिन जगदीश ने किशनपाल को भी पांच बीघा से अधिक जमीन पर कब्जा नहीं करने दिया। इसी बात को लेकर जगदीश और किशनपाल के बीच लंबे समय से तनाव बना हुआ था।
सीओ प्रमोद कुमार ने बताया कि दस दिन पहले ही शांतिभंग की आशंका में मालधनचौड़ पुलिस चौकी प्रभारी रविंद्र कौशल ने दोनों पक्षों का चालान किया था। शुक्रवार को जगदीश के परिजन खेतों में जानवर बांध रहे थे, तभी किशनपाल के विरोध जताने पर उनमें मारपीट हो गई। दोनों पक्षों ने पथराव के साथ ही सरिया, डंडों से एक दूसरे पर हमला कर दिया। बच्चों को भी नहीं बख्शा गया। मारपीट में 12 ग्रामीण घायल हो गए। इसमें एक पक्ष के जगदीश सैनी, उसकी भतीजी आकाशवती, भतीजा कमल कुमार, भाई जगदीश और दूसरे पक्ष का किशनपाल, उसका पिता सुखदेव, बहन सुदामा, भुक्कनलाल शामिल हैं। बीच बचाव करने पहुंची पड़ोसी दुर्गा सिंह की पत्नी पुष्पा देवी, पुत्री रिकंी, विजेंद्र, भुक्कनलाल की पुत्री सुमन भी घायल हो गई। कोतवाल विजय सिंह चौधरी ने बताया कि दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ तहरीर दी है। इसकी जांच की जा रही है।
इनसेट
एक लाख रुपये बीघा बिकी सरकारी जमीन
रामनगर। गांधीनगर से शिवनाथपुर नई बस्ती के बीच सरकारी जमीन पर काबिज जगदीश चंद्र ने कुछ वर्ष पहले एक एकड़ जमीन उत्तर प्रदेश के जिला रामपुर के थाना स्वार के अंतर्गत ग्राम मिर्जापुर निवासी लोकमन की पत्नी शकुंतला को बेची थी लेकिन शकुंतला को सिर्फ पांच बीघा जमीन पर ही कब्जा मिल सका। इधर बरसात में कुंभगडार वनग्राम में रहने वाले किशनपाल की जमीन बरसाती नाले में बह गई। उसने एक लाख रुपये प्रति बीघा की दर से छह लाख रुपये में शकुंतला की जमीन खरीद ली। अवैध कब्जे की भूमि होने से यह लेन-देन स्टांप पेपर पर ही हुआ।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper