लय, सुर और ताल के बीच नन्हें सितारों ने छुआ आसमां

Nainital Updated Fri, 02 Nov 2012 12:00 PM IST
नैनीताल। बुजुर्ग बच्चों को चांद की कहानी सुनाते ही रहे और बच्चों ने आसमां छू लिया इन पंक्तियों को चरितार्थ करते हुए नन्हें सितारों ने सरोवर नगरी में लय, सुर और ताल के बीच न केवल आसमां छुआ बल्कि कला के कदरदानों के दिलों को छूकर उनकी तालियां तथा आर्शीवाद भी लिया। इस दौरान कभी श्रोता शास्त्रीय राग पर झूमे तो कभी..नमक इश्क दा का तड़के के साथ महफिल जवां हुई।
मुख्यमंच में लिटिल चैंप की प्रस्तुति के लिए कड़ाके की ठंड के बावजूद दर्शकदीर्घा में कला के कदरदानों की भीड़ लगी हुई थी। 2007 के सारेगामा लिटिल चैंम तनमय चतुर्वेदी ने सदी के महानायक अमिताभ के गीत रंग बरसे भीगे चुनर वाली.. तथा खाइके पान बनारस वाला.. की प्रस्तुति से जोरदार दस्तक दी। अलग अंदाज में नन्हें मास्टर ने कभी आने से उसके आए बहार.., तनु लेके मै जाऊं गा.. गाया तो कभी शास्त्रीय रागों के साथ अठखेलियां करते हुए मधुबन में राधिका नाची.. गाकर लोगों का दिल जीत लिया। उनके गीत कभी अलविदा न कहना..पर भी लोगों ने तालियों से ताल दी।
सारेगामा 2009 की लिटिल चैंप प्रतीक्षा दीक्षित ने भी अपनी सुरीली आवाज के लोगों को दीवाना बना दिया। जुबां पे लागा लागा रे नमक इश्क दा.. से उन्होंने शानदार उपस्थिति का अहसास कराया। उनकी प्रस्तुति हीरे मोती मैं ना चाहू सैंया..पर तो लोग भावविभोर देखे गए। इसके बाद उन्होंने परदेशिया ये सच है पिया.., उड़ी नीदें आखों से जुड़ी.., पालकी में होके सवार चली रे.. आदि सदाबहार गीतों के माध्यम से अपनी सुर और साधना की प्रस्तुति दी।
उनके गीत झल्ला मेरा आशिक वल्ला.. पर दर्शकदीर्घा में बैठे लोग थिरकने लगे। फ्लैट्स में बनी दशर्क दीर्घा में भी हर तरफ लोग नाचने लगे। मैं हूं तेरी तू हैं मेरा..गीत के माध्यम से उन्होंने नैनीताल से अपना रिश्ता जोड़ते हुए कहा कि यहां के गोलू देवता के आर्शीवाद से ही उनका जन्म हुआ। जब वह मां के गर्भ में थी तो माता पिता यहां मन्नत मांगने आए थे। इससे पूर्व उत्तर-मध्य क्षेत्र के गायकों ने पंजाबी गिद्दा और कालबेलिया की मनमोहक प्रस्तुति दी। देर रात को वारसी ब्रदर्स रामपुर के कव्वलों का कार्यक्रम चल रहा था।

जुगलबंदी से महामहिम गदगद
नैनीताल। दोनों नन्हें सितारों की जुगलबंदी भी कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रही। इस दौरान उन्होंने डिस्को दिवाने हैं.., जिंद सठ बोलिये.., चलत मुसाफिर मोह लियो रे.., इश्क तेरा तड़पा दे.., साडे नाल रओगे ते.., मैं जट यमला पगला दिवाना.., ये मेरा दिल प्यार का दीवाना.., ओम शांति ओम..आदि गीत प्रस्तुत किए। जिसका महामहिम ने भी भरपूर लुत्फ उठाया। कार्यक्रम के बाद उन्होंने बच्चों को गले लगाकर आशीर्वाद भी दिया।ब्यूरो

भावी पीढ़ी कहें की मुझे तनमय बनना है

नैनीताल। लिटिल चैंप तनमय का कहना है कि वह सफल प्ले बैक सिंगर बनकर देश दुनिया में अपना तथा अपने पिता का नाम रोशन करना चाहते हैं। 11वीं में अध्य्यनरत तनमय ने कहा कि उनका प्रयास रहता है कि वह प्रतिदिन अधिक से अधिक रियाज कर अपनी गायकी को और बेहतर बना सकें। किसे आदर्श मानते हैं के सवाल पर उन्होंने कहा संबंधित क्षेत्र में बेहतर करने वाले सभी उनके आदर्श हैं और उनका प्रयास रहता है कि वह सभी से कुछ न कुछ सीख ले सकें। लेकिन वह किसी की तरह नहीं बनना चाहते बल्कि वह चाहते हैं कि भावी पीढ़ी के गायक कहें कि उन्हें तनमय जैसा बनना है। उन्होंने बताया कि उनके पिता राजीव चतुर्वेदी मां अंजलि उन्हें हर संभव सहयोग करते हैं। उनकी बहन तानशी भी बेहतर गायिका है।ब्यूरो

विरासत में मिली गायकी

नैनीताल। लिटिल चैंप प्रतीक्षा श्रीवास्तव ने कहा कि गायकी उन्हें विरासत में मिली है। उनके पिता बीएन श्रीवास्तव संगीत अध्यापक हैं और सरस्वती संगीत इंस्टीट्यूट भी चलाते हैं। उनकी मां सारिका तथा छोटी बहन प्रियांशी भी गायिका है। लखनऊ गुरूकुल अकादमी में 9वीं में अध्य्यनरत प्रतीक्षा का कहना है कि वह क्लासिकल भी सीख रही हैं। उन्होंने कहा कि नए गीत बदलते जमान के साथ ही पुराने हो जाते हैं, लेकिन पुराने एवरग्रीन गीत आज भी लोगों को पसंद हैं। इसलिए वह अपने कार्यक्रमों में पुराने गीतों का भी समावेश करती हैं। बंग्लौर, दिल्ली, जयपुर, भोपाल आदि शहरों में कार्यक्रम दे चुकी प्रतीक्षा 2009 में नैनीताल के एक कार्यक्रम में प्रतिभाग कर चुकी हैं। 2011 में मुम्बई में बिग बाल कलाकार का अवार्ड प्राप्त करने वाली प्रतीक्षा का कहना है कि व पढ़ाई के साथ सामंजस्य बैठाकर अपनी कला को ऊंचाईयों तक ले जाना चाहती हैं।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper