जिले में 106 स्कूलों में नहीं टॉयलेट

Nainital Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
नैनीताल। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का भी शिक्षा विभाग पर असर नहीं पड़ा। जिले में 106 बालिका विद्यालयों में शौचालय की व्यवस्था नहीं है। इनमें सर्वाधिक 42 स्कूल हल्द्वानी ब्लाक के अंतर्गत स्थित है। अन्य बुनियादी सुविधाओं का भी यही हाल है। 140 स्कूलों में बिजली का कोई इंतजाम नहीं है।
सुप्रीम कोर्ट ने पिछले वर्ष 18 अक्तूबर को राज्यों को सभी सरकारी स्कूलों में खासकर लड़कियों के लिए शौचालय की व्यवस्था के निर्देश दिए थे, लेकिन एक वर्ष होने को है, इसके बावजूद महकमा इस दिशा में गंभीर नहीं है। जिला सर्व शिक्षा अभियान दफ्तर में उपलब्ध आंकड़े ही बताते हैं कि जिले में 1367 स्कूल हैं, इनमें 106 बालिका विद्यालयों में शौचालय की सुविधा नहीं है। रामनगर ब्लाक के 18, रामगढ़ 11, कोटाबाग 9, ओखलकांडा व बेतालघाट ब्लाक 7-7 और भीमताल व धारी ब्लाकों के 6-6 स्कूलों में बालिका शौचालय नहीं बने है। 140 स्कूलों में बिजली की व्यवस्था नहीं है। इनमें रामनगर ब्लाक के 45, ओखलकांडा 35, बेतालघाट 32, रामगढ़ 17, हल्द्वानी के 10 और कोटाबाग ब्लाक के एक स्कूल में बिजली नहीं है।

कोट--------
शौचालयों के निर्माण को पैसा पहुंच चुका है। जल्द ही इनका निर्माण किया जाएगा। बिजली की सुविधा देने को विभागीय अधिकारियों से वार्ता चल रही है। जहां बिजली व्यवस्था में दिक्कत आएगी, वहां सोलर लाइट की व्यवस्था की जाएगी।
-रमेश चंद्र पुरोहित, जिला परियोजना अधिकारी, सर्व शिक्षा अभियान, नैनीताल

इनसेट-----------------------

गांव से पानी मांगकर पकता है मिड डे मील
प्राथमिक विद्यालय खड़की में न बिजली न पानी
भीमताल। यहां से दस किमी. दूर ग्रामसभा चनौती के खड़की गांव स्थित प्राइमरी स्कूल 24 बच्चे अध्ययनरत हैं। स्कूल में न तो बिजली की व्यवस्था है और न पानी की। मिड डे मील बनाने के लिए भोजन माता को आसपास ग्रामीणों के घरों में जाकर पानी मांगना पड़ता है। अन्य सुविधाओं का भी बुरा हाल है। शौचालय बना है पर पानी का इंतजाम नहीं होने से यह भी बच्चों के लिए किसी काम का नहीं है। बताते हैं कि विभाग ने साल भर पहले स्कूल में पानी की व्यवस्था के लिए 15 हजार रूपये की धनराशि दी थी, जो अभी भी ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत अधिकारी के संयुक्त खाते में जमा हैं। इसके बावजूद ग्राम प्रधान लीला आर्या कहती हैं कि स्कूल में जल्द ही पेयजल की व्यवस्था की जाएगी। प्रधानाध्यापिका दया जोशी का कहना है कि अधिकारियों ने स्कूल में जल्द ही बिजली की सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है।

----------
बिन बिजली - पानी के चल रहे स्कूल
हल्द्वानी। हल्द्वानी ब्लाक में भी ऐसे स्कूलों की कमी नहीं हैं जहां अभी तक बिजली - पानी की सुविधाएं मुहैया नहीं हो सकी हैं। लेकिन शिक्षा विभाग के अधिकारी इस समस्या को लेकर गंभीर नहीं हैं।
शहर के समता योग आश्रम गली में एक किराए के भवन में चल रहे प्राथमिक विद्यालय का हाल यह है कि इसका भवन जर्जर होने के बावजूद अभी भी इसमें कक्षाएं लगाई जा रहीं हैं। भवन किराए का होने के कारण स्कूल में पेयजल की व्यवस्था नहीं है। बताते हैं कि भवन जर्जर होने की वजह से विभाग ने स्कूल दूसरे भवन में शिफ्ट करने के निर्देश दे दिए थे लेकिन कई माह बीतने के बावजूद ब्लाक के शिक्षा अधिकारी कोई व्यवस्था नहीं कर सके हैं। इस कारण स्कूल पढ़ने आने वाले बच्चों की जान को खतरा बना हुआ है। इसी तरह शहर से सटे छड़ायल सुयाल ग्राम सभा में दो प्राइमरी स्कूलों में बिजली का कनेक्शन नहीं लग पाया है। विभाग का कहना है कि उदयलाल प्राइमरी स्कूल में बिजली कनेक्शन के लिए धनराशि जमा की जा चुकी है लेकिन मैन लाइन से स्कूल की दूरी ज्यादा होने और छह - सात पोल लगने की बात कहकर बिजली विभाग ने अभी तक कनेक्शन नहीं लगाया है। विभाग के लोगों का कहना है कि ब्लाक क्षेत्र में बिना बिजली और पेयजल सुविधा के स्कूलों की संख्या एक दर्जन से अधिक है। इसके अलावा बच्चों के लिए कई स्कूलों में बनाए गए शौचालय चालू ही नहीं हो सके हैं। इस कारण बच्चों को खासी परेशानी का सामना पड़ रहा है। इधर, प्रभारी खंड शिक्षा अधिकारी एनके जोशी का कहना है कि इन सुविधाओं के संबंध में बृहस्पतिवार को बैठक कर समीक्षा की गई तथा विभागीय अभियंताओं को शौचालयों आदि का निर्माण कार्य पूरे करने को कहा गया है।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper