ओवरलोडिंग के विरोध में ट्रांसपोर्टरों ने खोला मोर्चा

Nainital Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
हल्द्वानी। वाहनों में ओवरलोडिंग पर प्रतिबंध लगाने में स्थानीय प्रशासन एवं संभागीय परिवहन विभाग भले ही हरकत में नहीं आए लेकिन ट्रांसपोर्टरों ने ओवरलोडिंग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। देवभूमि ट्रक आनर्स एसोसिएशन ओवरलोडिंग के विरोध में सड़कों पर आई है। एसोसिएशन पदाधिकारियों ने कहा कि ओवरलोडिंग की रोकथाम के लिए वे खुद अभियान चलाएंगे और ओवरलोडिंग पकड़ी जाने पर विभागीय अधिकारियों से जुर्माना वसूल करवाएंगे।
ओवरलोडिंग पर प्रतिबंध लगाने के सुप्रीमकोर्ट के आदेश हैं। बावजूद इसके उत्तराखंड में ओवरलोडिंग बदस्तूर जारी है। संभागीय परिवहन विभाग, पुलिस और प्रशासन की चुप्पी साधने से ओवरलोडिंग वाहनों से कई हादसे हो रहे हैं। ओवरलोडिंग वाहनों से सड़कों पर दबाव बढ़ रहा है, जिससे सड़कें जल्दी खराब हो रही हैं। देवभूमि ट्रक आनर्स एसोसिएशन ने ओवरलोडिंग के खिलाफ 29 और 30 सितंबर को जन जागरूकता अभियान चलाया। इसमें पोस्टर चस्पा किए और पर्चे बांटे गए। ओवरलोडिंग से होने वाले नुकसान से जनता को जागरूक किया गया। दो दिवसीय जागरूकता के अभियान चलाने के बाद एसोसिएशन ने एक अक्तूबर से कुमाऊं में ओवरलोडिंग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एसोसिएशन अध्यक्ष विजय पलड़िया ने कहा कि ओवरलोडिंग वाहनों की चेकिंग खुद एसोसिएशन के पदाधिकारी करेंगे। ओवरलोडिंग पकड़ी जाने पर आरटीओ और स्थानीय पुलिस से वाहनों को सीज और जुर्माना की कार्रवाई करवाएंगे। अध्यक्ष ने कहा कि सोप स्टोन और क्रशर में चलने वाले वाहनों में जबर्दस्त ओवरलोडिंग होती है। वाहन पलटने से कई बड़े हादसे हो चुके हैं। जन जागरूकता अभियान में ललित रौतेला, दर्शन सिंह खेतवाल, प्रकाश पांडे, दया किशन, कैलाश नेगी, संतोष नेगी, मोहन मर्तोलिया, ललित पाठक, यशवंत सिंह, मोहल ढैला, कीर्ति मेलकानी, हीरा सिंह, नीरज नेगी, गिरीश मेलकानी, राजेंद्र बिष्ट और मनोज मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls