पहाड़ की बारिश से भाबर में तबाही

Nainital Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
कोटाबाग/रामनगर। भैंसकिला गधेरे में बाढ़ आने से कोटाबाग ब्लाक के ओखलढूंगा गांव में एक घर क्षतिग्रस्त हो गया और दस घरों में पानी भर गया। साथ ही चार हेक्टेयर में खड़ी फसल बरबाद हो गई। वहीं कोसी नदी की बाढ़ में अवैध खनन कर रही एक ट्रैक्टर-ट्रॉली भी बह गई। उसके चालक ने बमुश्किल अपनी जान बचाई। बादल फटने की आशंका से लोगों ने रातभर जागकर रात गुजारी और ऊंचे स्थानोें पर चले गए।
कोसी बैराज रामनगर में शुक्रवार की रात मात्र तीन एमएम बारिश हुई लेकिन पहाड़ों पर हुई अतिवृष्टि से बहकर आया पानी लोगों की मुसीबत बन गया। रात में गूलरघट्टी, पूछड़ी नदी किनारे कोसी नदी में कई लोग अवैध खनन कर रहे थे। अधिकांश लोगों ने अपने वाहन बहाव क्षेत्र से हटा लिए लेकिन एक ट्रैक्टर-ट्रॉली और उसका चालक चपेट में आ गए। ट्रैक्टर चालक ने बमुश्किल छलांग लगाकर अपनी जान बचाई। वहीं भैंसकिला नाले के किनारे उखड़े पेड़ों और मलबे से पानी रुकने से ओखलढूंगा से डौन परेवा गांव के बीच कुछ देर के लिए झील सी बन गई। रात करीब 12 बजे पहाड़ों पर फिर हुई बारिश का पानी वेग से बहकर आने से यह रुका हुआ पानी और मलबा ओखलढूंगा गांव में लोगों के घरों, खेतों और बगीचों में घुस आया। नींद से एकाएक जगे लोगों ने सोचा कि बादल फटा है और वह फटाफट ऊंचाई वाले स्थान पर पहुंच गए। पूरे गांव में अफरातफरी मची रही और ग्रामीणों ने पूरी रात जागकर गुजारी। शनिवार तड़के थोड़ा उजाला होने और पानी कम होने पर लोग गांव में लौटे तो अधिकांश ग्रामीणों के खेत में लगी फसल धान, गडेरी, अदरक, भट्ट आदि बर्बाद हो चुकी थी, घर मलबे से पटे थे। कुंवर सिंह रावत का पक्का शौचालय पूरी तरह टूट गया। पेड़, बोल्डर गिरने से कई सड़कें बंद हो गई थीं। अमगड़ी पट्टी पटवारी आशा सक्सेना ने दस प्रभावित परिवारों की चार हेक्टेयर जमीन बहने का आकलन किया है। प्रभावित किसानों में भवान सिंह रावत, गिरीश तिवारी, खीम सिंह रावत, जोगाराम, गोविंदलाल, राम सिंह, खीम सिंह, हरीश जोशी, मथुरादत्त आदि शामिल शामिल हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017