विज्ञापन
विज्ञापन
UP Board Result 2019 UP Board Result 2019

महिलाओं के राज में बेटियों की उपेक्षा

Nainital Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
हल्द्वानी। जिस जिले को महिलाएं चलातीं हैं। केबिनेट मंत्री से लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष, कमिश्नर, डीएम तक के पदों पर महिलाएं आसीन हैं, इसके बावजूद महिलाओं की कोई सुनवाई नहीं है। राजकीय बालिका इंटर कालेज की करीब डेढ़ हजार छात्राएं बड़ी मुसीबत में हैं। सुबह जब छात्राएं स्कूल पहुंचती हैं तो गेट पर मनचले तो अंदर दारू के पव्वे और अद्धे स्वागत करते हैं। अतिक्रमणकारियों ने साइकिल स्टैंड की बाउंड्री तोड़ दी है और कब्जा करने की कोशिश में लगे हैं। स्कूल की टीचरों ने इन दिक्कतों को दूर करने के लिए कई बार डीएम मैडम के यहां गुहार लगाई मगर आज तक कोई सुनवाई नहीं।
विज्ञापन
विज्ञापन
कालाढूंगी रोड स्थित राजकीय बालिका इंटर कालेज में डेढ़ हजार से अधिक पढ़ने छात्राएं पढ़ती हैं लेकिन छात्राओं से लेकर टीचर और कर्मचारी सभी पीड़ित हैं। स्कूल गेट एवं बाउंड्री पर अवैध रूप से दर्जनों दुकानें लगाकर कब्जा कर लिया गया है, साइकिल स्टैंड की बाउंड्री तक तोड़ दी गई है जिसके कारण छात्राओं को इस स्टैंड की जगह मजबूरी में दूसरे स्थान पर साइकिलें खड़ी करनी पड़ रही हैं। शाम होने के बाद लोग दारू पीने के बाद पव्वे और अद्धे स्कूल परिसर में फेंक जाते हैं। इतना ही नहीं स्कूल प्रशासन की बिना अनुमति के ही बड़े - बड़े विज्ञापन होर्डिंग लगा दिए गए हैं। छात्राएं जब सुबह स्कूल पहुंचती हैं तो उन्हें गेट पर अराजक तत्वों से लेकर अतिक्रमण की समस्या से सामना करना पड़ता है। स्कूल का स्टाफ के टोकने पर अतिक्रमणकारी उन्हें देख लेने की धमकी देते हैं। शिक्षिकाओं का कहना था कि छात्राओं की सुरक्षा के मुद्दे पर जिलाधिकारी निधि मणि त्रिपाठी से मिल कर गुहार कर चुकी हैं लेकिन कोई भी उनकी समस्या देखने नहीं आया। यही हाल शिक्षा विभाग के अधिकारियों का है। प्रभारी प्रधानाचार्या सपना सिंह का कहना था कि इस समस्या के बारे में प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को तीन पत्र भेज चुकी हैं मगर कोई सुनवाई नहीं हुई।
----
1930 में स्थापित हुआ विद्यालय
हल्द्वानी। राजकीय बालिका इंटर कालेज 82 साल का इतिहास समेटे हुए है। शिक्षा विभाग के रिकार्ड के मुताबिक ब्रिटिशकाल में सन् 1930 में प्राथमिक पाठशाला से शुरू हुए इस विद्यालय को 1935 में जूनियर हाईस्कूल की तो 1950 में हाईस्कूल की मान्यता दी गई तथा 1952 में इस विद्यालय को इंटर कालेज की मान्यता दे दी गई। इस विद्यालय का क्षेत्रफल 1.90 एकड़ में फैला हुआ है जिसमें से 1.30 एकड़ में भवन हैं बाकी में मैदान है।
---
पांच माह में भी प्रधानाचार्या तैनात नहीं
हल्द्वानी। जीजीआईसी की प्रधानाचार्या दीपा पांडे इसी साल 31 मार्च को सेवानिवृत्त हो चुकी हैं। उसके बाद से शिक्षा विभाग इस पद पर किसी की तैनाती ही नहीं कर सका है। इतना ही नहीं करीब दो साल से इंटर की गणित विषय की टीचर का पद रिक्त है। छात्राओं को गणित पढ़ाने के लिए पीटीए से टीचर की व्यवस्था कर काम चलाया जा रहा है। सफाई कर्मचारी के रिटायर होने के बाद इस पर भी तैनाती नहीं होने से सफाई व्यवस्था भी रामभरोसे रहती है।
--------
स्कूल गेट पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा
गेट के दोनों ओर अतिक्रमणकारियों ने कब्जा चाय, पान बीड़ी और खाने के होटल से लेकर विभिन्न प्रकार की दुकानें खोल दी हैं। हाल यह है कि स्कूल बाद में खुलता हैं इससे पहले यहां बाउंड्री के दोनों ओर ठेले और खोखा दुकानें खुल जातीं हैं। स्कूल छूटने के समय इन दुकानों पर अराजक तत्वों का जमावड़ा हो जाता है तथा गेट से छात्राओं का निकलना तक मुश्किल हो जाता है। स्कूल गेट व चारदीवारी से सटे फुटपाथ पर दुकान लगाने वाले लोग रात में कूड़ा करकट एवं गंदगी स्कूल की बाउंड्री के अंदर फेंक जाते हैं।
---
लाइब्रेरी की छत बनी गार्डेन
हल्द्वानी। जीजीआईसी परिसर में शिक्षा विभाग द्वारा जिला शाखा पुस्तकालय संचालित किया जा रहा है। जर्जर कमरे में चल रहे पुस्तकालय की छत काफी जर्जर होने की वजह से घास उगने से गार्डेन बन चुका है। छात्राओं के विद्यालय में पुस्तकालय होने की वजह से आम लोगों को इसका कोई फायदा नहीं होता। जगह न होने से किताबें अलमारी में बंद रखी हैें। हाल यह है कि बुधवार को यह पुस्तकालय स्कूल की छुट्टी से पहले ही बंद कर दिया गया जबकि इसका समय सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक है।

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Religion

Pavagadh Mata : पीएम मोदी को मिली जिस माता की लाल चुनरी, जानें उस शक्तिपीठ का पौराणिक इतिहास

Pavagadh Mata Temple चुनावी जंग जीतने निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन ने अपने बेटे को अपना और लाल चुनरी के रूप में पावागढ़ वाली माता का विशेष आशीर्वाद दिया। इस पावन शक्तिपीठ के पौराणिक इतिहास को जानने के लिए पढ़ें ये लेख —

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

हरिद्वार के पास दो हाथियों की मौत, ट्रेन की चपेट में आने से गई जान

शुक्रवार को हरिद्वार के पास नंदा देवी एक्सप्रेस की चपेट में आने से दो हाथियों की मौत की खबर सामने आई है। वन अधिकारियों का कहना है कि ये हादसा सुबह लगभग 5 बजे के करीब हुआ। सूचना मिलने के बाद वन अधिकारियों ने दोनों हाथियों का पोस्टमार्टम किया।

19 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election