कुविवि के पूर्व कुलसचिव को न्यायिक हिरासत में जेल

Nainital Updated Fri, 24 Aug 2012 12:00 PM IST
नैनीताल। वर्ष 2009 में कुविवि की एमएड प्रवेश परीक्षा में अनियमितता बरतने के आरोपी पूर्व कुलसचिव बीसी जोशी को बृहस्पतिवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुजीत कुमार की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने सुनवाई के बाद आरोपी को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिए।
अभियोजन पक्ष के अनुसार अल्मोड़ा परिसर के तत्कालीन शिक्षा संकाय विभागाध्यक्ष एवं ओपन विवि में कार्यरत प्रो. जेके जोशी ने वर्ष 2009 की एमएड प्रवेश परीक्षा में अनियमितता के आरोप लागए थे। विवि प्रशासन, मुख्यमंत्री समेत राज्यपाल से शिकायत के बाद विवि प्रशासन द्वारा मामले में जांच कमेटी का गठन किया गया। 13 अप्रैल 2012 को मामले में मल्लीताल कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया। बुधवार को पूर्व कु लसचिव बीसी जोशी की गिरफ्तारी के बाद बृहस्पतिवार को उन्हें को न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायालय ने उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls