हल्द्वानी से छात्र को किया अगवा

Nainital Updated Thu, 23 Aug 2012 12:00 PM IST
हल्द्वानी। हरियाणा नंबर की गाड़ी में सवार तीन बदमाशों ने बुधवार दोपहर रोडवेज बस स्टैंड के पास से छात्र को बेहोश कर अगवा कर लिया। बदमाश छात्र को गजरौला के देवेंद्रनगर ले गए वहां तीनों ने सड़क किनारे गाड़ी रोककर एक होटल में खाना खाया। इस बीच छात्र को उल्टी हुई तो होटल कर्मियों ने छात्र के बारे में पूछताछ की। होटल कर्मियों से बेटा होने की बात कहकर अपहरणकर्ता उस वक्त बच गए मगर उन्हें लगा कि वे छात्र के होश में आने पर पकड़े जा सकते हैं। इसलिए अपहरणकर्ता छात्र को उल्टी कराने के बहाने सड़क किनारे छोड़कर फरार हो गए। कुछ घंटों बाद होटल कर्मियों को छात्र बेहोश पड़ा मिला तो वे छात्र को उठाकर होटल ले गए। काफी देर में होश में आने पर छात्र ने होटल कर्मियों को आपबीती बताई। होटल कर्मियों ने छात्र के पिता को फोन कर छात्र को हल्द्वानी आने वाली बस में बैठा दिया है। इधर छात्र के चाचा चंकी ने बताया कि भतीजे फिरोज के देर रात करीब 12 बजे के बाद हल्द्वानी पहुंचने की उम्मीद है। उसके आने के बाद अपहरण की पूरी कहानी के बारे में सही जानकारी होगी।
बागेश्वर जिले के गरुड़ निवासी एनपीआरसी समन्वयक मोहम्मद युसूफ ने बताया कि उनका पुत्र फिरोज अहमद (17) हल्द्वानी में सेंट थेरेसा स्कूल में 11वीं कक्षा में पढ़ता है। फिरोज ईद पर घर आया हुआ था। बुधवार सुबह करीब सात बजे उन्होंने पुत्र को मैक्स गाड़ी में हल्द्वानी के लिए बैठाया। एक बजे मैक्स गाड़ी हल्द्वानी पहुंचती है। डेढ़ बजे उन्होंने पुत्र के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो उसका मोबाइल बंद निकला। संदेह होने पर उन्हाेंने फोन करके हल्द्वानी में अपने रिश्तेदारों के यहां पुत्र के बारे में जानकारी कराई। सुराग नहीं लगने पर हल्द्वानी कोतवाली में पुत्र के गायब होने की गुमशुदगी दर्ज कराई। देर शाम यूपी गजरौजा के देवेंद्र नगर स्थित एक होटल से उनके पास फोन आया, तब उन्हें मालूम हुआ कि उनके फिरोज का अपहरण हो गया था। पकड़े जाने के डर से अपहरणकर्ता फिरोज को होटल के पास छोड़कर भाग निकले। फिरोज के अपहरणकर्ता हरियाणा नंबर की गाड़ी में सवार थे। फिरोज के चाचा चंकी ने बताया कि फोन पर फिरोज से बात होने पर उसने बताया कि वह प्रेम टाकिज के पास मैक्स से उतरा और टेंपो में बैठ गया। उसके बैठने के बाद तीन और लोग टेंपो में आकर बैठ गए। चंकी ने बताया कि भतीजे ने टेंपो में बैठने के बाद होश न होने की बात कही है। फिरोज मुखानी में अपने चाचा चंकी के साथ रहकर पढ़ाई करता है।
इधर एसएसआई डीआर वर्मा ने बताया कि शाम के वक्त फिरोज के परिजन उनके पास आए और फिरोज के बारे में जानकारी की। उन्हाेंने फिरोज के अगवा होने संबंधी कोई बात नहीं बताई है। फिरोज का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाने पर उन्हें फिरोज की लोकेशन धनौरी की मिली। फिरोज हल्द्वानी से गजरौला कैसे और किसके साथ पहुंचा, यह तो फिरोज के लौटकर आने के बाद ही स्पष्ट होगा।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper