सिर चढ़कर बोल रहा टैटू का क्रेज

Nainital Updated Mon, 23 Jul 2012 12:00 PM IST
नैनीताल। नैनीताल के युवाओं में भी बॉडी टैटू और पियरसिंग का क्रेज सिर चढ़कर बोल रहा है। स्टाइल और फैशन के दौर में युवाओं को शरीर में सुइयां गुदवाने, मशीन चलवाने से भी परहेज नहीं है। नाक में फुल्ली, बाली पहनने की बजाए अब युवतियां आईब्रो जैसी जगहों पर छेद करवाकर वहां पर स्टाइलिश बाली पहन रही हैं। लड़कों में अपनी बाईसेप्स में चाइनीज ड्रेगन, शिव की आकृति, गायत्री मंत्र, टाइगर आदि गुदवाने का शौक है, वहीं युवतियां अपनी कमर पर बटरफ्लाई, एंजिल और फ्लावर के डिजाइन बनवा रही हैं।
मल्लीताल स्थित टैटू सेंटर नॉटी नीडल्स के सुबोध आदित्य कहते हैं कि वह इस व्यवसाय से पांच सालों से जुड़े हैं। अब तक हजारों लोगों के शरीर पर टैटू बना चुके हैं। वह कहते हैं कि शहर में 18 से 26 साल के युवाओं में पीठ, गले के पीछे, बाजुओं और पैराें में टैटू गुदवाने का क्रेज है। टैटू की बनवाई उसके साइज पर निर्भर करती है। सबसे छोटे टैटू की बनवाई 2 हजार रुपये है। टैटू के साइज में बढ़ोतरी के हिसाब से प्रति इंच 500 रुपये की बढ़ोतरी होती है। उन्होंने बताया कि टैटू के डिजाइन ट्रेस करने के बाद 800 से 1300 रुपये में अमरीका से मंगवाई गई सुइयों को शरीर पर चुभाया जाता है। रंग भरने के लिए टैटू गन, मिकी शार्प मशीन का इस्तेमाल किया जाता है।
इनसेट
टैटू सजाने संवारने में भी नहीं पीछे
नैनीताल। लड़कियों द्वारा शरीर पर टैटू गुदवाने के शौक का एक दिलचस्प तथ्य और देखने को मिल रहा है। सुबोध आदित्य बताते हैं कि टैटू की शौकीन युवतियां करीब हर तीन माह में अपने टैटू को और सजाने, संवारने के लिए उनके पास पहुंचती हैं। वहीं कई युवतियां ऐसी भी हैं जो हर बार पुराना टैटू मिटाकर नया टैटू गुदवाने उनके पास आती हैं।
इनसेट
मां से मिली प्रेरणा
नैनीताल। टैटू एक्सपर्ट सुबोध आदित्य को बचपन से ही कला का शौक था। वह कहते हैं कि जब वह नौ साल के थे तब उन्होंने अपनी मां को सुई-धागे से शर्ट का बटन सीते देखा था। तब से वह आलपिन और सुइयों से घर की दीवारों पर विभिन्न डिजाइन बनाने लगे। इसी प्रेम ने उन्हें टैटू एक्सपर्ट बना दिया। सुबोध ने दिल्ली के चर्चित हॉक क्लब से टैटू डिजाइनिंग का कोर्स किया। शहर के अलावा उनका दिल्ली में भी टैटू क्लब है।

फोटो16एनटीएल03,04पी से भेजी गई है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper