मक्का के बाद धान पर संकट गहराया

Nainital Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
हल्द्वानी। बंपर फसलों के लिए जाने वाले गौलापार के इलाके के किसान मुश्किल में है। बरसात न होने मक्का का नुकसान हो चुका है, अब धान पर संकट गहरा गया है। कई खेत सूखे पड़े हुए हैं, अधिकांश सिंचाई की नहरें भी पानी का इंतजार कर रही हैं।
गौला पार के इलाके में टमाटर, मक्का, धान, गेंहू आदि की फसल खूब होती है। अधिकांश लोग फसलों पर ही आश्रित हैं। पर इस बार बादलों के रूठने से फसलों पर संकट आ गया है। ग्रामीणों के अनुसार सबसे ज्यादा असर मक्का के उत्पादन पर पड़ा है। बसंतपुर गांव के डीके पड़लिया कहते हैं कि सिंचाई का मुख्य साधन नहरें हैं, लेकिन इस बार नहरें सूखी रही। ट्यूबवेल आदि पीने का पानी और थोड़ा बहुत सिंचाई हुई है। नवीन चंद पडलिया कहते हैं कि पानी की कमी के चलते कई किसानों ने मजबूरीवश धान की जगह ढैंचा (खाद बनाने में इस्तेमाल) तक बोया है। भोलादत्त कहते हैं कि कई लोगों के खेत सूख पड़े हैं, बरसात पर ही नजर लगी हुई है। ग्रामीण शीला देवी कहती हैं कि मौसम की मार खेती पर पड़ी है। पहले मक्का खराब हो गया, धान लग नहीं पाया है। कुछ लोगों सोयाबीन लगाया गया है, इसके भी खराब होने की आशंका बनी हुई है।
सड़क की क्षतिग्रस्त(फोटो)
हल्द्वानी। सरकारी विभाग कैसे काम करते हैं, उसका अंदाजा बसंतपुर में लगाया जा सकता है। यहां पर एक संकट दूर करने के लिए दूसरी दिक्कत उत्पन्न कर दी गई। स्वैप योजना के तहत गांव में पेयजल पाइप लाइन डाली जा रही है, इसके लिए सड़क के किनारे जेसीबी से खोद दिये गये हैं। यह गड्ढे जगह-जगह बन गये हैं, जिससे दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017