बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

हल्द्वानी में करंट लगने से गार्ड की मौत

Updated Mon, 30 Jul 2018 02:29 AM IST
विज्ञापन
demo pic
demo pic - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
हल्द्वानी। रामपुर रोड स्थित एक कार शो रूम के बाहर बड़ी लापरवाही से बड़ा हादसा हो गया। ट्रांसफॉर्मर के नीचे गुमटी में बनाए गए गार्ड रूम में करंट दौड़ने से धमाका हुआ और चपेट में आए एक गार्ड की मौत हो गई, जबकि उसका साथी झुलस गया। उसे सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गार्डों ने हादसे के लिए शो रूम संचालक की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है।
विज्ञापन

कार शो रूम की सुरक्षा के लिए आइडियल केयर सर्विस कंपनी की ओर से सुरक्षा कर्मी रखे गए हैं। शो रूम प्रबंधन की ओर से ट्रांसफार्मर के नीचे सुरक्षाकर्मियों के बैठने के लिए एक गुमटी बनाई गई है। शनिवार रात गार्ड नरेंद्र सिंह नदगली (28) और हरीश सिंह (62) ड्यूटी कर रहे थे। देर रात बरसात होने पर गार्ड गुमटी में बैठ गए। तड़के करीब साढ़े तीन बजे ट्रांसफार्मर में धमाका हो गया। करंट गुमटी तक पहुंचा तो गार्ड नरेंद्र छटककर पानी में जा गिरा। हरीश भी सड़क किनारे कराहने लगा। चीख पुकार सुनते ही रिटायर्ड वन अधिकारी आरसी खोलिया की नींद टूट गई। रोड की दूसरी तरफ रहने वाले दुकानदार भी जाग गए। सुरक्षा गार्डों की गंभीर हालत को देखते हुए 108 एंबुलेंस और कार शो रूम में रहने वाले कर्मचारियों को फोन किया गया। एंबुलेंस दोनों गार्ड को लेकर एसटीएच पहुंचीं। यहां नरेंद्र सिंह को मृत घोषित कर दिया। मानपुर पश्चिम निवासी हरीश के दोनों हाथों की अंगुलियां झुलस गई हैं ।

नरेंद्र सिंह नदगली ओखलकांडा ल्वाड़डोबा का मूल निवासी है और यहां लालपुर नायक में किराए का कमरा लेकर रहता था। साथियों ने बताया कि वह चार भाइयों में सबसे छोटा था। उसकी अभी शादी नहीं हुई थी। नरेंद्र के चचेेरे भाई आलम सिंह नदगली ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि कार शोरूम के मालिक और उनके प्रबंधन की लापरवाही के कारण मौत हुई है। शोरूम प्रबंधन ने मानकों के विपरीत ट्रांसफार्मर के खुले तारों के बीच गार्ड रूम बनाया था। कोतवाल केआर पांडे का कहना है कि इस मामले में जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

हादसे में गार्ड के मौत की जानकारी सुबह शो रूम आने पर मिली है। ट्रांसफार्मर के नीचे गुमटी विद्युत विभाग ने ही काफी पहले लगवाइ थी।
- राकेश सिंह सरपाल, प्रबंधक कार शो रूम
विधायक ने कार्रवाई और मुआवजे की मांग की
हादसे की जानकारी मिलने पर ओखलकांडा के विधायक राम सिंह कैड़ा पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। विधायक ने कहा कि इस मामले में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए है। आरोप लगाया कि कार शो रूम प्रबंधक ने ट्रांसफार्मर के नीचे खुले तार के बीच गलत स्थान पर गार्डों को रखा था। विधायक ने जिला प्रशासन को मुआवजा देने की मांग की है।
एक गुमटी में कबाड़ भरा है
सुरक्षा गार्डों का कहना है कि दक्षिण तरफ से गार्ड रूम में पूरा कबाड़ भरा है। इसी कारण दोनों सुरक्षा गार्ड ट्रांसफार्मर के नीचे गुमटी में बैठ गए थे। क्षेत्रीय लोगों का कहना था कि शोरूम प्रबंधन ने गलत स्थान पर गुमटी लगाकर ट्रांसफार्मर को कब्जा करने का प्रयास किया है।
झटका खाकर गिरने पर चिल्लाया था
घायल गार्ड हरीश सिंह का कहना है कि करंट से झटका खाकर दूर गिरने पर उसने बचाओ बचाओ की आवाज लगाई थी। लोगों से उसने नरेंद्र को बचाने के लिए कहा लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। क त्था फैक्ट्री से रिटायर्ड होने के बाद हरीश नौ मई को सुरक्षा गार्ड की कंपनी में भर्ती हुआ था।

यूपीसीएल का दावा : बिजली गिरने से हुआ हादसा
हल्द्वानी। हादसे के बाद उत्तराखंड पावर कारपोरेशन की नींद टूटी है। यूपीसीएल अब बिजली के पोल के पास गार्ड रूम बनाने वाले शोरूम के मालिक को नोटिस देगा। वहीं, बिजली विभाग के अधिकारियों का दावा है कि बिजली गिरने से हादसा हुआ है।
अधिशासी अभियंता(ग्रामीण) अमित आनंद ने बताया कि कार शोरूम के बाहर गार्ड रूम बिजली के पोल के काफी करीब बनाया गया था। बिजली ट्रांसफार्मर पर गिरी थी। इस कारण ट्रिपिंग आई थी। कुछ देर बाद बिजली आपूर्ति सुचारु हो गई थी। ट्रांसफार्मर, लाइन या अन्य किसी उपकरण में कोई खराबी नहीं आई थी। ईई के अनुसार सुरक्षा निरीक्षक को रिपोर्ट भेजी जाएगी साथ ही शोरूम के मालिक को भी नोटिस दिया जाएगा। ऐसे सभी गार्ड रूम या अन्य केबिन को हटाया जाएगा जो बिजली पोल के काफी करीब हैं। ऐसे स्थानों को चिह्नित कराकर नोटिस भेजा जाएगा। लोगों को जागरूकता के लिये पहले भी बिजली विभाग अभियान चला चुका है।
इन बातों का रखें ध्यान
- लाइन के नीचे निर्माण कार्य न करें।
- लाइन की दूर मकान से या निर्माण स्थल से डेढ़ मीटर होनी चाहिए।
- निर्माण कार्य के नीचे लाइन आ रही हो तो पहले लाइन शिफ्ट करा लें।
- बच्चों को बिजली के पोल, लाइन और ट्रांसफार्मर के पास न जाने लें।
- जानवरों को बिजली के पोल से न बांधें।
- अपने घर में एमसीबी और अर्थिंग की समय-समय पर जांच कराएं।
- अर्थिंग मजबूत होगी तो कोई तकनीकी दिक्कत आने पर घर की एमसीबी गिर जाएगी।
- अर्थिंग गड़बड़ होने से बारिश में करंट लीक होने का डर रहता है। करंट लीक होने से बिजली का बिल भी अधिक आता है।
- गर्मिंयों से पहले पूरे घर के उपकरण की इलेक्ट्रीशियन से जांच कराएं।
- स्वीकृत लोड के अनुसार पोल से मीटर तक आने वाली केबिल है कि नहीं इसकी जांच कराएं।
- स्वीकृत लोड से अधिक लोड प्रयोग करने पर भी पोल से मीटर तक आने वाली केबिल में भी शार्ट सर्किट होने का खतरा रहता है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us