‘डीएम साहब अब आप ही कुछ करिए’

Haldwani Bureau Updated Mon, 05 Jun 2017 12:36 AM IST
ख़बर सुनें
‘डीएम साहब अब आप ही कुछ करिए’
हल्द्वानी/ज्योलीकोट (नैनीताल)।
शराब की दुकान के खिलाफ महिलाओं का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। जगह-जगह धरना प्रदर्शन जारी हैं। भुजियाघाट से हटाई गई अंग्रेजी और देसी शराब की दुकानों को ग्राम सभा चोपड़ा के मटियाली (आम पड़ाव) तोक में खोलने के विरोध में महिलाएं लाठी डंडे लेकर पहुंच गईं।

उन्होंने पहले प्रदर्शन किया फिर नैनीताल जा रहे डीएम दीपेंद्र चौधरी की गाड़ी रोककर शराब की दुकान न खोलने की गुहार लगाई। बीडीसी मेंबर भगवती सुयाल, ग्रामप्रधान जीवन चंद्र, पूर्व ज्येष्ठ प्रमुख महेंद्र सिंह नेगी, पूरन अधिकारी, जगदीश सुयाल, हीरा देवी, हेमा जीना, शकुंतला नेगी, कमला चौहान, इंदर नेगी, नीमा भट्ट आदि ग्रामीणों ने शराब की दुकानों का विरोध करते हुए संकल्प लिया कि किसी भी कीमत पर इलाके में शराब की दुकानें नहीं खुलने देंगे।

उधर, भवन स्वामी ने इस संबंध में पुलिस चौकी में तहरीर देकर कहा है कि उन्हें रविवार को ही पता चला कि किराये पर दिए गए भवन में शराब की दुकान खोली जा रही है। उनका कहना था कि इकरारनामा में इसका कोई जिक्र नहीं किया गया है और वह नहीं चाहते कि उसमें शराब की दुकान खोली जाए।

इसके अलावा उन्होंने ग्राम सभा चोपड़ा की बैठक में उक्त भवन में शराब की दुकान न खोले जाने के लिए लिखित रूप से भी दिया है। इधर, शराब विरोधी आंदोलनकारियों ने आरोप लगाया है कि मटियाली में जिस स्थल में शराब की दुकान खोलने का प्रयास किया जा रहा है, वह एनएच से मात्र 50 मीटर की दूरी पर है, लेकिन शराब व्यवसायी और आबकारी कच्चे रास्ते से उसकी दूरी बढ़ाकर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को धता बता रहे है।

पहाड़पानी में चौथे दिन भी जारी रहा विरोध

शराब की दुकान गांव में खोलने का विरोध रविवार को चौथे दिन भी जारी रहा। दूनीगैर में जलना नीलपहाड़ी के ग्राम प्रधान गोविंद मेलकानी और सरपंच पीतांबर मेलकानी के नेतृत्व में दर्जनों महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों ने दूनीगैर मुख्यमार्ग पर नारेबाजी कर धरना दिया। इस दौरान हरिनंदन मेलकानी, नीरज मेलकानी, शिब्बन दनाई, भुवन मेलकानी, आशा देवी, कमला देवी आदि थे।

कमलुवागांजा में धरना

कमलुवागांजा में दुकानदार ने पाश कालोनी से हटाकर शराब की दुकान दूसरे स्थान पर रविवार को खोल दिया। इसकी जानकारी मिलते ही ग्रामीणों के एक गुट ने विरोध करना शुरू किया। ग्रामीणों के बीच इस बात को लेकर मतभेद उभरा कि प्रदर्शन करने वाले सिर्फ शराब की दुकान का विरोध कर रहे हैं।

बार का कोई विरोध नहीं कर रहा है जबकि बार और शराब की दुकान आस पास है। धरना प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही मुखानी पुलिस मौके पर पहुंची। बता दें कि इसके पहले पाश कालोनी के समीप दुकान खोलने पर एसडीएम ने दुकान बंद करा दिया था।

हल्दूचौड़ में विधायक को ज्ञापन

बमेटा बंगर केशव में देशी शराब की दुकान के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन जारी है। दुकान हटाए जाने की मांग को लेकर रविवार को ग्रामीणों के शिष्टमंडल ने विधायक नवीन दुम्का को ज्ञापन सौंपा। निर्धारित मानकों की जांच करने आए आबकारी विभाग कर्मियों और शराब अनुज्ञापी की ग्रामीणों से मानक को लेकर बहस हो गई। पुलिस ने मध्यस्थता कर मामला शांत कराया।

हल्दूचौड़ के बमेटाबंगर केशव में लिंक मार्ग किनारे देसी शराब की दुकान खोली गई है। ग्रामीणों का कहना है कि दुकान एनएच से सिर्फ 150 मीटर की दूरी पर है। इसके अलावा यहां दो स्कूल, तीन क्रशर हैं और लिंक मार्ग पर वाहनों का अत्यधिक दबाव बना रहता है।

इधर, विधायक दुम्का ने एसडीएम एपी बाजपेई से मोबाइल पर वार्ता की। उन्होंने आबकारी विभाग को मौके पर जायजा लिए जाने की जानकारी दी। धरना प्रदर्शन करने वालों में क्षेत्र पंचायत सदस्य सुनीता, रिंपी बिष्ट, ग्राम प्रधान रमेश तिवारी, कन्नू बमेटा, भैरव बमेटा, निधि बिष्ट, गंगा पांडे, मधु पांडे, विमला शर्मा आदि थे।

दारू की दुकान के बाहर तंबू लगाकर प्रदर्शन

बच्चीधर्मा में देसी शराब की दुकान खोलने की सूचना पर रविवार को धूप में महिलाओं ने दुकान के बाहर तंबू लगा कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। महिलाओं ने कहा कि गांव में शराब की दुकान किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान समाजसेवी पुष्पा जोशी, दौलिया की ग्राम प्रधान राधा कैलाश भट्ट, उपप्रधान मनोज पंत, वार्ड सदस्य हेमा भट्ट, शीला देवी, आशा देवी, पुष्पा जोशी, उमेश भट्ट आदि थे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

अब नई नीति के तहत होगा शिक्षकों का तबादला, हाईकोर्ट ने निरस्त की याचिकाएं

सूबे के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का तबादला और समायोजन अब नई स्थानांतरण नीति के तहत होगा।

24 मई 2018

Related Videos

के बी बोपैया बने कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर सहित देश दुनिया की सारी खबरें

के बी बोपैया बने कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर सहित देश दुनिया की सारी खबरें देखिए सिर्फ अमर उजाला टीवी पर शाम 5 बजे live

18 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen