बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

आखिर क्यों आरोपियों के घरों पर बुलडोजर नहीं चलवाती योगी सरकार: भीम आर्मी

Dehradun Bureau देहरादून ब्यूरो
Updated Thu, 01 Oct 2020 11:55 PM IST
विज्ञापन
हाथरस कांड की घटना के विरोध में जुलूस निकालते भीम आर्मी एकता मिशन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता ।
हाथरस कांड की घटना के विरोध में जुलूस निकालते भीम आर्मी एकता मिशन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता । - फोटो : HARIDWAR

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
हाथरस की बेटी के साथ हुई हैवानियत की घटना और उसके बाद प्रदेश सरकार के रवैये के खिलाफ लोगों का गुस्सा कम नहीं हो रहा है। बृहस्पतिवार को भीम आर्मी भारत एकता मिशन ने घटना के विरोध में आक्रोश रैली निकाली। रैली में बड़ी संख्या में महिलाएं और पुरुष शामिल हुए। रैली की उमड़ी भीड़ ने पुलिस प्रशासन में भी खलबली मचा दी थी। मिशन के कार्यकर्ताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में आरोपियों को फांसी की सजा, पूरी घटना की सीबीआई जांच, पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग उठाई गई।
विज्ञापन

बृहस्पतिवार की दोपहर 12 बजे ललतारौ पुल पर भीम आर्मी एकता मिशन के कार्यकर्ता काफी संख्या में एकत्र होना शुरू हुए। दोपहर एक बजे मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन के वहां पहुंचते ही सैकड़ों लोग जमा हो गए। यहां से रैली शिवमूर्ति चौक, रेलवे स्टेशन के सामने से सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पहुंची। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन ने कहा कि हाथरस में जो कुछ हुआ उससे मानवता शर्मसार हुई है। घटना के बाद प्रदेश सरकार को रवैया उससे भी ज्यादा शर्मनाक था। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ कि किसी दुष्कर्म पीड़िता का शव उसके परिजनों को नहीं मिला। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बजाय मिशन के कार्यकर्ताओं को उत्पीड़न किया जा रहा है। मिशन के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने मांग की थी कि पीड़िता को एम्स में भर्ती किया जाए, लेकिन प्रशासन ने संज्ञान नहीं लिया। यहां तक कि चंद्रशेखर को पीड़िता और पीड़ित परिवार से मिलने तक जाने नहीं दिया। उनको भी अपने घर में कैद कर दिया गया है।

उन्हाेंने कहा कि सरकार अपराधियों और गुनहगार अधिकारियों को बचाना चाहती है। आखिर क्यों आरोपियों के घरों पर बुलडोजर नहीं चलवाती। ऐसे में बेटियों पर अत्याचार होते रहेंगे और बेटियां महफूज व सुरक्षित कैसे रहेंगी। प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह और जिलाध्यक्ष प्रमोद महाजन ने कहा कि गरीब की बेटी को न्याय मिलने तक संघर्ष किया जाएगा। इस मौके पर प्रदेश उपाध्यक्ष मुन्नी लाल शिंदे, जिला उपाध्यक्ष सुशील पाटिल, जिला प्रभारी सचिन वाल्मीकि, जिला महासचिव परवेज सुल्तान व विकास रवि, नगर अध्यक्ष आशीष कुमार, शहर अध्यक्ष विशाल प्रधान, जिला उपाध्यक्ष खुर्शीद आलम व अथर अंसारी, शिवकुमार, धर्मेश कुमार, रवि मौर्य, डॉ. मेहरबान, रजनीश, विनोद मेघवाल, प्रवीण नौटियाल, सुनील कड़च्छ, दीपक मौर्य, रवि तेंगवाल, शिवकुमार, सचिन, सागर, अंकित तेंगवाल आदि शामिल हुए।
ललतारौ पुल पर एकत्रित होने से शहर में लगा जाम
भीम आर्मी के बैनर पर भारी संख्या में एकत्रित हुए लोगों के चलते हुए ललतारौ पुल पर जाम लग गया। घनी आबादी वाले क्षेत्रों के साथ हरकी पैड़ी मार्ग पर लंबा जाम लग गया। जिला और महिला अस्पताल जाने का रास्ता बंद होने मरीजों को भी रास्ता नहीं मिल सका। जाम बेकाबू होने पर पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रैफिक को डायवर्ट किया। हिलबाईपास और चंडीपुल की ओर से आवागमन को पूरी तरह से रोक दिया गया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us