नोटिसों और छापों से परेशान नहीं बाबा

Haridwar Updated Wed, 28 Nov 2012 12:00 PM IST
हरिद्वार। विगत वर्ष चार जून की घटना के बाद लगातार मिल रहे नोटिसों और डाले जा रहे छापों से बाबा रामदेव परेशान नहीं हैं। जवाब देने और बचाव के लिए एक पूरी टीम नियत कर जिम्मेदारी दूसरों पर डाल दी गई है। पतंजलि योग पीठ में तैयारी चल रही है कि किस प्रकार अगले वर्ष केंद्र की नीतियों का भंडाफोड़ किया जाए। जिस प्रकार केजरीवाल ने विगत दिनों राजनीति के क्षेत्र में कुछ आरोप लगाकर देश को हिला दिया था, उसी तर्ज पर संभवत: बाबा भी अगले वर्ष के अंत में अनेक भंडाफोड़ करेंगे।
पतंजलि योग पीठ में इन दिनों पतंजलि परिवार की अनेक इकाइयों के राष्ट्रीय और प्रांतीय पदाधिकारियों का शिविर चल रहा है। इस शिविर में पतंजलि परिवार को मूल रूप से सशक्त बनने की जानकारियां प्रदान की जा रही हैं। लक्ष्य है कि गांव-गांव कार्यकर्ता फैल जाएं और केंद्र द्वारा नोटिसों के माध्यम से जिस प्रकार बाबा को परेशान किया जा रहा है, उसके खिलाफ आवाज उठाई जाए। विभिन्न राज्यों से एक महीने तक उच्च स्तरीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण लेने के लिए पतंजलि योग पीठ आते रहेंगे।
पतंजलि योग पीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने दिव्य योग मंदिर में पत्रकारों को बताया कि केंद्र तथा प्रदेश सरकारें जबरन नोटिस भेजकर दबाव बनाना चाहती हैं। यदि आज हम भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना छोड़ दें, तो कल से नोटिस आना बंद हो जाएंगे और की गई फर्जी कार्रवाई भी वापस ले ली जाएगी। आचार्य ने कहा कि बचाव का कार्य कानून के जानकारों और अधिवक्ताओं का एक दल करता रहेगा। जहां तक बाबा रामदेव का सवाल है वे केंद्र पर और भी जोरदार हमले बोलेंगे। काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ जो मुहिम चलाई गई है वह रुकने वाली नहीं है। जब तक केंद्र की कांग्रेसनीत एवं प्रदेशों की कांग्रेस सरकारों का खात्मा नहीं होगा, तब तक देश विश्व गुरु नहीं बन सकता। बहुर्राष्ट्रीय कम्पनियों का हित करने वाली केंद्र सरकार के खिलाफ बड़े हमले आने वाले भविष्य में किए जाएंगे। जहां तक नोटिसों का सवाल है, उनसे डरने की हमें आवश्यकता नहीं है। हर मामले में हमारा पक्ष प्रबल होकर उभरेगा और न्याय की जीत होगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरिद्वार जिला जेल से मिली ये जानकारी आपको चौंका देगी

उत्तराखंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल हरिद्वार जिला जेल में 16 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं।

24 दिसंबर 2017