गैंगवार की दिशा में बढ़ रहा केबल कारोबार

Haridwar Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
हरिद्वार। केबल व्यवसाय धर्मनगरी में एक बार फिर आपसी संघर्ष का सबब बन सकता है। शह और मात के इस खेल में अब तक काबिज व्यवसायी की बादशाहत ध्वस्त हो चुकी है, जबकि इस फील्ड के पुराने खिलाड़ियों ने नए नाम से केबल व्यवसाय पर अपना वर्चस्व स्थापित कर लिया है। वहीं, कुछ नए खिलाड़ी भी केबल कारोबार में हिस्सा लेने की जुगत में लगे हैं। इस बदलाव में लोकल ऑपरेटरों के बीच भी संघर्ष छिड़ गया है। कुछ आपरेटर्स ने जिलाधिकारी को भी इसकी शिकायत भेजी है।
हरिद्वार केबल व्यवसाय का इतिहास रक्त रंजित रहा है। करोड़ों रुपये के इस खेल में एक बार फिर उठापटक को दौर शुरू हो चला है। पिछले एक दशक से हरिद्वार केबल व्यवसाय पर एक छत्र राज करने वाले एक ग्रुप को रेस से बाहर कर दिया गया है। सूत्रों की मानें तो केबल व्यवसाय के पुराने ‘कैप्टन’ ने लोकल आपरेटर्स की मदद से पूरे मार्केट पर कब्जा जमा लिया है। पूरी तरह हावी हो चुके इस ग्रुप में साझीदार के तौर पर एक राजनेता के बेटे का नाम भी लिया जा रहा है। नए कारोबारियों ने हरिद्वार के कुल 66 लोकल आपरेटर्स को साथ जोड़ने में कामयाबी भी हासिल कर ली। पिछले सिर्फ एक महीने में सामने आए इस बदलाव से लोकल आपरेटर्स में भी विवाद उत्पन्न हो गया है। इलाकों में दबदबा रखने वाले कुछ नए आपरेटर्स फिलहाल संघर्ष का कारण बने हुए हैं। यही नहीं, कुछ नए लोग भी इस व्यवसाय में हाथ आजमाने को आतुर हैं। अभी शासन-प्रशासन को शिकायतों का दौर चल रहा है। लेकिन, धर्मनगरी का अब तक इतिहास गवाह है कि करोड़ों के कारोबार पर कब्जा जमाने की यह जद्दोजहद कभी भी खूनी संघर्ष में बदल सकती है। ,

इनसेट
ऐसे चलता है काम
केबल व्यवसाय के लिए मनोरंजन कर विभाग से लाइसेंस लेना पड़ता है। इसके बाद लोकल आपरेटर्स को साथ लाने की चुनौती होती है। जिसके साथ जितने ज्यादा लोकल आपरेटर्स होंगे, वही केबल व्यवसाय का बादशाह बनता है। लोकल आपरेटर्स को साथ जोड़ने को लेकर भी अक्सर तनातनी होती रहती है।


पहले हो चुकी हैं हत्या
हरिद्वार। केबल व्यवसाय पर काबिज होेने के लिए हरिद्वार में खून की नदियां बह चुकी हैं। भेल में केबल विवाद के चलते वर्ष 2004 में प्रभात धीमान को गोली मारी गयी। इससे पहले वर्ष 1992-93 में भी मर्डर हो चुका है। यही नहीं रुड़की में कैप्टन रघुवंशी का कत्ल भी केबल विवाद की ही देन था।

--नवाज--

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरिद्वार जिला जेल से मिली ये जानकारी आपको चौंका देगी

उत्तराखंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल हरिद्वार जिला जेल में 16 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं।

24 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls