नर्सिंग होम पर सीएमओ ने मारा छापा

Haridwar Updated Thu, 04 Oct 2012 12:00 PM IST
सुल्तानपुर/लक्सर। दुराचार की पीड़ित नाबालिग का गर्भपात करने वाले निजी नर्सिंग होम की स्वास्थ्य विभाग ने जांच करनी शुरू कर दी है। बुधवार को सीएमओ ने नर्सिंग होम पर छापा मारकर दस्तावेजों की जांच पड़ताल की। इस दौरान संचालक रजिस्ट्रेशन संबंधी दस्तावेज नहीं दिखा पाए। अस्पताल में काम करने वाले चारों चिकित्सकों के पास भी कोई शैक्षणिक प्रमाणपत्र नहीं मिले। सीएमओे ने 24 घंटे के भीतर सभी दस्तावेज न दिखाने पर कानूनी कार्रवाई करने की बात कही।
लक्सर कोतवाली में एक व्यक्ति ने पड़ोसी युवक गुलजार पर अपनी नाबालिग लड़की के साथ दुराचार करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने जब युवक को गिरफ्तार करके जांच की तो पता चला कि नाबालिग का गर्भपात कराया गया। इसमें लड़के की मां खुर्शिदा और महिला चिकित्सक सीमा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस तीनों को गिरफ्तार कर चुकी है। अवैध गर्भपात कराने के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने भी सुल्तानपुर स्थित निजी नर्सिंग होम जीवन ज्योति अस्पताल की जांच शुरू कर दी। बुधवार को सीएमओ दीपा शर्मा ने डिप्टी सीएमओ अनिल वर्मा के साथ नर्सिंग होम पर छापा मारा। जांच के दौरान टीम को अस्पताल का रजिस्ट्रेशन संबंधी कोई दस्तावेज नहीं मिला। इतना ही नहीं चिकित्सालय में काम कर रहे चार चिकित्सकों के पास शैक्षिक प्रमाणपत्र नहीं थे। चिकित्सकों का कहना था कि उनके सभी प्रमाणपत्र घर पर हैं। सीएमओ ने उन्हें निर्देश दिए कि 24 घंटे के भीतर यदि सभी दस्तावेज जमा नहीं करवाए तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अस्पताल के सभी रजिस्ट्रर भी अपने कब्जे में ले लिए। सीएमओ ने बताया कि कुछ और भी खामियां मिली हैं, जिनकी जांच करवाई जा रही है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरिद्वार जिला जेल से मिली ये जानकारी आपको चौंका देगी

उत्तराखंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल हरिद्वार जिला जेल में 16 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं।

24 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls