सेवक नदारद, भटक रही जनता

Haridwar Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
हरिद्वार। जिला मुख्यालय रोशनाबाद स्थित विकास भवन में दूरदराज से आए फरियादी दिनभर भटक रहे हैं। मगर, उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। दरअसल, प्रोन्नति में आरक्षण के विरोध में कहने को तो कर्मचारी प्रतिदिन दो घंटे का कार्य बहिष्कार कर रहे हैं। लेकिन, लोगों का आरोप है कि इसके बाद भी ज्यादातर अधिकारी और कर्मचारी अपनी सीट पर नहीं मिलते हैं।
जाहिर है, दो घंटे के कार्य बहिष्कार की आड़ में अफसर और कर्मचारी अपने दफ्तरों में बैठने की बजाय दिनभर बेलगाम होकर घूम रहे हैं। लेकिन, उन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं है। जिससे छोटे-छोटे काम के लिए भी सेवकों के पास आने वाली जनता को दिनभर भटकना पड़ रहा है। ज्यादातर लोग समाज कल्याण विभाग के कार्यालय में पेंशन के मामले लेकर आ रहे हैं। इनमें महिलाएं, बुजुर्ग भी शामिल हैं। लेकिन, असंवेदनशील हो चुके अफसर उनकी सुनने को तैयार ही नहीं हैं। लोगाें का आरोप है कि अफसर जनता की सेवा के लिए होते हैं। लेकिन, कुर्सी पर बैठते ही वे जनहित के कार्य भूल कर अपने हित साधने शुरू कर देते हैं। कार्य बहिष्कार की आड़ में नदारद रहने वाले अफसराें के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है।

कौन कौन से विभाग हैं हड़ताल पर


परेशान लोगाें की जुबानी, उनकी परेशानी
पत्नि की विकलांग पेंशन और पापा की वृद्धावस्था पेंशन की जानकारी लेने आया था। कई दिनों से दफ्तर के चक्कर काट रहा हूं, लेकिन रोज हड़ताल की बात कही जा रही है। आवेदन फार्म भरा है। ग्राम प्रधान, पटवारीय तहसीलदार आदि सभी अधिकारियों के स्तर का काम भी पूरा हो चुका है। लेकिन, दफ्तर में अधिकारी नहीं मिल रहे। जिससे परेशान हूं।
- मुकीम ग्राम मुंडलाना, नारसन कुर्डी

वृद्धावस्था पेंशन नहीं आ रही थी, इसलिए मालूम करने विकास भवन आया। यहां पता चला की कर्मचारी दो घंटे के कार्य बहिष्कार पर हैं, इसलिए इंतजार किया। मगर, बाद में भी अधिकारी नहीं मिले। पहले तो पेंशन आती थी, पर एकाएक बंद कर दी। यहां पर कोई ठीक से बताता भी नहीं रहा है। कभी किसी बाबू के पास भेज देते हैं, तो कभी किसी के।
- घसीटा, बौंगला बहादराबाद

वृद्धावस्था पेंशन नहीं आ रही। मालूम करने आई थी, लेकिन घंटों इंतजार करने के बाद भी दफ्तर में कोई नहीं मिला। एक बाबू मिला तो उसने बताया कि दूसरे कमरे में जाओ। लेकिन वहां भी कोई नहीं मिला। दो बार पहले भी आ चुकी हूं। अब फिर से आना पड़ेगा। गांव से बार-बार आने में दिक्कत होती है।
- समंदरी देवी, ग्राम बौंगला बहादराबाद

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरिद्वार जिला जेल से मिली ये जानकारी आपको चौंका देगी

उत्तराखंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल हरिद्वार जिला जेल में 16 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं।

24 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls